मिलावटी घी खाने से न हो जाए सेहत को खतरा, चुटकियों में करें पहचान

खबरें बिहार की जानकारी

घी सुपरफूड है, इस बात को अब विदेशी भी मान गए हैं। भारतीय घरों में तो इसका इतना महत्व है कि इसे पूजा में भी इस्तेमाल किया जाता है। घी खाने का स्वाद तो बढ़ाता ही है साथ ही कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। यह गुड कोलेस्ट्रॉल का बढ़िया सोर्स माना जाता है। बढ़ते बच्चों के लिए घी खासकर बेहद जरूरी है। आयुर्वेद में घी को दवा माना जाता है। हालांकि घी के साथ सबसे बड़ी प्रॉब्लम इसकी शुद्धता को लेकर आती है। अगर आप घर पर घी बना रहे हैं तो बेस्ट है। लेकिन अगर आप बाजार से घी खरीदते हैं तो इसकी शुद्धता का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। बाजार में मिलावटी घी पकड़े जाने की खबरें अक्सर आती हैं। यह सच भी है कि बड़े स्तर पर घी में मिलावट होती है। आप जिस ब्रैंड का घी खरीद रहे हैं उसकी जांच यहां बताए तरीके से कर सकते हैं। अगर गड़बड़ लगे तो उस ब्रैंड को खरीदना बंद कर दें।

हथेली पर रखकर जांचें शुद्धता

घी की शुद्धता जांचने का यह सबसे आसान तरीका है। अपनी हथेली पर घी रखें, अगर यह अपने आप पिघल जाए तो घी शुद्ध है।

देखकर करें पहचान

शुद्ध देसी घी को आप इसकी रंगत और खुशबू से ही पहचान सकते हैं। हालांकि मिलावट करने वाले आजकल एक कदम आगे रहते हैं। शुद्ध घी के रंग में पीलापन होता है। सफेद दानेदार हिस्सा तली में रहता है और ऊपर पीला सा लिक्विड दिखता है। घी महंगा मिलता है तो कई ब्रैंड्स इसमें सस्ते तेल मिला देते हैं। जैसे नारियल तेल या डालडा।

हीट टेस्ट

एक बर्तन में घी डालकर इसे गैस पर चढ़ाएं। अगर घी तुरंत पिघल जाए और डार्क ब्राउन हो जाए तो यह शुद्ध है।

घी में होती है क्या मिलावट

घी में वेजिटेबल ऑइल्स और एनीमल बॉडी फैट्स मिलाए जाते हैं ताकि देखने में यह एकदम घी जैसा लगे। इसके अलावा भी आजकल कई ऐसी चीजें मिलाई जा रही हैं जैसे बोन डस्ट, लेड वगैरह जो कि सेहत के लिए नुकसानदायक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.