मैट्रिक में 42%, इंटर में 39% थे मार्क्स, नहीं हारी हिम्मत, MD गोल्ड मेडलिस्ट बने

कही-सुनी
मुजफ्फरपुर.खराब रिजल्ट से हजारों छात्र-छात्राएं मायूस हैं। किसी ने दिन का खाना नहीं खाया तो किसी ने रात में परिवार से बात तक नहीं की। ऐसी घड़ी में एक चिकित्सक डॉ. प्रदीप शुक्ल का फेसबुक पोस्ट न सिर्फ प्रेरणा देने वाला है, बल्कि सैकड़ों लोगों ने इसे पढ़ा और सराहा है।
शहर के मनोचिकित्सक डॉ. संजय कुमार ने इस पोस्ट को शेयर करते हुए कहा – जब जागो तभी सबेरा। पूरी जिंदगी इम्तिहान है। एक इम्तिहान से निराश न हो और अगले के लिए पूरे हौसले के साथ खड़ा हो जाओ सफलता अवश्य मिलेगी। उन्होंने अपने मित्र एवं केजीएमसी लखनऊ के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रदीप की कहानी पर आधारित पोस्ट को शेयर किया है, जिसे हम आपके बीच रखते हैं।
डॉ. प्रदीप ने लिखा है -प्रेरित हों और आगे बढ़ें
डॉ. प्रदीप ने लिखा है – यह पोस्ट उन बच्चों और उनके अभिभावकों के लिए है, जिनका 12वीं का रिजल्ट आज घोषित हुआ है। अभी फेसबुक पर 90, 95 प्रतिशत जैसी संख्याएं धड़ाधड़ अवतरित होने वाली हैं। इनको देख कर बहुत सारे बच्चे जिनके रोल नंबर के आगे 50, 60 जैसी संख्याएं लिखी होंगी, दुखी होने वाले हैं। मैं उनके लिए अपने नाम के आगे लिखी कुछ संख्याएं साझा कर रहा हूं। शायद इनसे उनका दुख कुछ कम हो सके और कुछ लोग प्रेरित हो सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.