मौसम ने बदला बाजार का मिजाज, खीरा-ककड़ी समेत शीतल पेय पदार्थ की खूब हो रही मांग

जानकारी

मौसम का मिजाज दिनोंदिन गर्म हो रहा है। शुक्रवार को तापमान 40 डिग्री पार कर गया। छह किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली दक्षिण पश्चिमी हवाओं के झोंके ने लोगों की परेशानी और बढ़ा दी। गर्म हवाओं के कारण लोगों के हलक सूखने लगे हैं। मौसम के बदले मिजाज का असर अब बाजार पर भी दिखाई देने लगा है।

चार दिनों से तापमान में हो रही बढ़ोत्तरी के कारण ठंडा पेय पदार्थ और फलों की बिक्री में तेजी आई है। कोल्ड ड्र‍िंंंक्‍सस के जरिये लोग गला तर कर रहे हैं। कोल्ड ड्रि‍ंक्स की बिक्री में हुई बढ़ोत्तरी से व्यवसायी भी गदगद हैं। कोल्ड ड्रि‍ंक्स के खुदरा विक्रेता अमन कुमार ने बताया कि पहले प्रत्येक दिन एक कार्टन कोल्ड ड्रि‍ंक्स की बिक्री होती थी। शुक्रवार को तीन कार्टन कोल्ड ड्रक्स की बिक्री हुई। कोल्ड ड्रि‍ंक्स के थोक विक्रेता संतोष संजय बुचासिया ने कहा कि गर्मी बढऩे और रमजान का महीना होने के कारण बिक्री में तेजी आई है। खास कर माजा की अधिक डिमांड है। डिमांड के हिसाब से अभी कोल्ड ड्रि‍ंक्स की आपूर्ति नहीं हो पा रही है।

मौसमी फलों की बढ़ी डिमांड

गर्मी और लू से बचने के लिए चिकित्सक भी फलों के सेवन की सलाह देते हैं। ऐसे में लगातार बढ़ रहे तापमान के कारण मौसमी फलों की बिक्री बूम कर गई है। अनानस, पपीता, तारबूज, खीरा, मूली, अंगूर आदि की जमकर बिक्री हो रही है। फलों के थोक विक्रेता मुन्ना सोनकर ने कहा कि भागलपुर की मंडी में सिलीगुड़ी से अनानस, बंगाल से पपीता, उड़ीसा और बंगलुरु से तारबूज आ रहा है। बाजार में लोकल खीरा और मूली भी उपलब्ध है। अनानस 80 से सौ रुपये जोड़ा, पपीता 60 रुपये, तरबूज 30 से 40 रुपये किलो बिक रहा है। रमजान का महीना चल रहा है। ऐसे में खीरा और मूली की भी जमकर बिक्री हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.