mascow-bihari-girl-nisha

मॉस्को में बिहार की निशा ने सेना का जेट उड़ा रचा इतिहास

एक बिहारी सब पर भारी

दृढ़ इच्छाशक्ति की बदौलत बिहार के छपरा की निशा राज ने मॉस्को में जेट विमान उड़ाकर एक मिसाल कायम किया। एनसीसी के यूथ एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत निशा ने पिछले दिनों रूस में 7 बिहार बटालियन एनसीसी का प्रतिनिधित्व किया। रूस में निशा ने राष्ट्रपति भवन क्रेमलिन, रेड स्क्वायर म्यूजियम एवं पुतिन हाउस भी देखा।

मॉस्को में सेना के जेट विमान को उड़ाकर इतिहास रचने वाली निशा का सपना भारतीय सेना में ऑफिसर बनना है।

निशा का मानना है कि जब कुछ करने का ज़ज़्बा हो तो रास्ते अपने आप बन जाते है। दूर-दूर तक मेरे परिवार में कोई भी सेना में नहीं है, न ही मुझे कोई गाइड करने वाला था लेकिन मेरे में मन कुछ नया करने की ख़्वाहिश थी जिसकी वजह से मैं यहां तक पहुंच सकी।



छपरा के रामनगर शिवटोला निवासी किसान पिता धनंजय सिंह एवं मनोरमा देवी की पुत्री निशा राज जगदम कॉलेज में जूलॉजी आनर्स की छात्रा है। अपनी प्रतिभा के बल पर छपरा जैसे छोटे शहर में रहकर यूथ एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत रूस की राजधानी मॉस्को में बिहार एवं झारखंड के 7 बटालियन का प्रतिनिधित्व करने के साथ ही मॉस्को में सेना के जेट विमान को आधे घंटे तक उड़ाने में सहायता कर निशा ने विदेश में भी अपनी धमक दिखा दी है। मध्यवर्गीय परिवार से आने वाली निशा के परिवार में कोई भी सेना नहीं है। लेकिन उसकी तमन्ना है की वो सेना में ऑफिसर बने।

आत्मविश्वास से भरी निशा ने कहा कि दो सदस्यीय टीम ने सातवें आसमान पर आधे घंटे तक उसे जेट उड़ाने की ट्रेनिंग दी और अगर मौका मिला तो एक दिन वह अकेले जेट उड़ाएगी।




एसएलआर (राइफल) चलाने का शौक रखने वाली निशा बिहार व झारखंड के वेस्ट शूटर का अवार्ड भी जीत चुकी है। निशा कहती है बचपन से ही निशा का सपना सेना में जाने का था। जब जगदम कॉलेज में निशा का एडमिशन हुआ तो सबसे पहले उसने एनसीसी में नामांकन लिया। फिर अपने दृढ निश्चय और कड़ी मेहनत के बल पर निशा एक ही साल के अंदर एनसीसी में 7 बिहार बटालियन की बेस्ट कैडेट बन गई। गणतंत्र दिवस के अवसर पर होने वाले प्रीआरडी परेड में भी उन्हें शामिल होने का मौका मिला और साथ राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिलने का अवसर प्राप्त हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.