एक रुपया और नारियल लेकर की इंजीनियर बेटे की शादी, कहा-दहेज प्रथा है समाज के लिए घातक

प्रेरणादायक

पटना: राजस्थान में शादी के नाम पर फिजूलखर्ची रोकने और दहेज का लेन-देन बंद करने की दिशा में अब हर समाज में पहल होने लगी है। नागौर जिले में खींवाराम घिंटाला ने इंजीनियर बेटे की शादी बिना दहेज लिए कर समाज में एक मिसाल पेश की है। उन्होंने दहेज जैसी कू प्रथाओं को समाज के लिए घातक बताया है।

सिर्फ 1 रु और नारियल के साथ विदा हुई दुल्हन…

– जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस के जिला महासचिव और जिला परिषद के पूर्व सदस्य खींवाराम घिंटाला ने एक रुपए और नारियल लेकर बेटे की शादी की।

– इंजीनियर योगेश उनके इकलौते बेटे हैं। चुरू जिले में सुजानगढ़ के रहने वाली प्रियंका से उनकी शादी हुई थी।

उधर, माली समाज में भी सादगी से हुई इकलौते बेटे की शादी

– वहीं, माली समाज के पूर्व अध्यक्ष बजरंग लाल सैनी ने भी इकलौते बेटे विवेक की शादी सादगी से कर एक अच्छा उदाहरण पेश किया है।

– सैनी ने बताया कि वे पहले ही तय कर चुके थे कि विवेक की शादी में किसी तरह का दहेज नहीं लेंगे।

– उन्होंने बताया कि दहेज समेत अन्य कुरीतियों को जड़ से मिटाने की शुरुआत हमें खुद से ही करनी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.