तिलकुट, लाई, मुढ़ी, चुड़ा,गुड़ गजक व चिक्की से बाजार सज गए हैं। बाजार की बढ़ी चहल-पहल यह बता रही है कि मकर संक्रांति आ गया है। डेयरी कंपनियों ने पर्व में दही का फैमिली पैक उतारा है। छोटे से लेकर बड़े परिवार तक का खास ख्याल रखा गया है।

बाजार में दही के सभी रेंज उपलब्ध

मकर संक्राति के पर्व को ध्यान में रखकर तिरहुत दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ (तिमुल) ने दही का फैमिली पैक उतारा है। यह दो किलो व पांच के पैक में है। इसमें दो किलो की खुदरा कीमत दो सौ और पांच किला के पैक की कीमत 475 रुपये है। वहीं 15 किलो, दस किलो आधा किलो, दो सौ ग्राम व सौ ग्राम के पैक भी बाजार में हैं।

10 लाख किलो दही की आपूर्ति

तिमुल के एमडी अरविंद कुमार ने बताया कि लगभग दस लाख किलो दही आपूर्ति करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा निजी डेयरी कंपनियों की ओर से भी फैमिली पैक में दही उपलब्ध कराई जा रही है। मिठाईयों की दुकानों पर भी ग्राहकों को ध्यान में रखते हुए दही जमाया जा रहा है।

Tilkut Bihar

बेतिया का मिरचइया चूड़ा खास

कतरनी व तुलसी फूल चूड़ा की खुशबू बाजार में फैली ही है। बेतिया की मिरचइया चुड़ा की मांग मकर संक्रांति पर खास रहती है। कतरनी 55 से 60 रुपये प्रति किलो, तुलसी फूल 80 रुपये प्रति किलो है। बेतिया का मिरचइया चूड़ा 80 से 90 रुपये प्रतिकिलो बिक रहा है। मिरचइया चूड़ा भी पांच किलो के फैमिली पैक में उपलब्ध है। देहाती चूड़ा के खरीदार कम नहीं है। यही कारण है कि मिल में तैयार सामान्य चूड़ा से पांच रुपये प्रति किलो इसकी अधिक कीमत है।

यह है कीमत

देहाती चूड़ा : 40 रुपये प्रति किलो

मिल चूड़ा : 35 रुपये प्रति किलो

लाई चूड़ा : 60 रुपये प्रति किलो

लाई मूढ़ी : 60 रुपये प्रति किलो

लाई काला तिल : 250 से 280 रुपये प्रति किलो

लाई उजला तिल : 260 से 300 रुपये प्रति किलो

चिक्की : 160 रुपये प्रति किलो

तिलकुट : 240 से 450 रुपये प्रति किलो।  

Sources:-Dainik Jagran

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here