मनु महाराज ने की बड़ी कार्रवाई, लापरवाही बरतने के मामले चार अधिकारियों को किया निलंबित

खबरें बिहार की

बिहार के मुंगेर में डीआईजी मनु महराज ने बड़ी कार्रवाई की है. सड़क दुर्घटना में घायल युवक की मौत में लापरवाही बरतने के आरोप में मुंगेर और भागलपुर के पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है. मृतक के पिता ने 16 जून को अपने बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट कासिम बजार थाने में दी. पुलिस द्वारा आवेदन नहीं लिए जाने के बाद 19 जून को प्रथामिकी दर्ज की गई थी.

दरअसल मामला ढाई महीने पहले जमालपुर थाना क्षेत्र के जमालपुर डीह गांव के निवासी लक्ष्मी प्रसाद यादव का 21 वर्षीय मोनू कुमार अपनी बहन रेखा देवी के घर सफियासराय ओपी क्षेत्र के नैलक्खा में रहता था और केटरिंग का काम करता था. 14 जून को वो सब्जी लाने के लिए घर से निकला था और लौट कर घर नहीं आया.

वहीं, रेखा देवी ने सफियासराय ओपी, जमालपुर थाना में शिकायत दर्ज कराने गयी. लेकिन पुलिसिया चक्कर में घूमते-घूमते कासिम बाजार थाना में 16 जून को आवेदन दिया. लेकिन पुलिस के रवैया को देख पीड़ित परिजनों ने डीआईजी से गुहार लगाई. जिसके बाद डीआईजी ने मामले की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया.

टीम के द्वारा जांच के क्रम में पाया गया कि कासिम बजार थाना द्वारा इस मामले की जांच सही रूप से नहीं की गयी. डीआईजी मनु महराज ने बताया कि 14 जून को सफियाबाद पेट्रोल पम्प के पास मोनू दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसके बाद स्थानीय लोगो ने उसे मुंगेर के सदर अस्तपताल में भर्ती कराया. वहीं, सदर अस्तपताल के डॉक्टरों द्वारा 14 जून को घायल दो अज्ञात लोगो को बेहतर इलाज के लिए भागलपुर मायागंज में अस्तपताल में रेफर कर दिया.

डॉक्टरों ने दोनों अज्ञात रेफर लोगो का ओडी स्लिप जारी नहीं किया. जिसके बाद जांच के दौरान पाया गया कि घायल एक व्यक्ति की मौत 17 जून जबकि दूसरे घायल व्यक्ति की मौत 19 जून को हुई. जिसका ओडी स्लिप जारी करने के बाद बरारी थाना (भागलपुर) द्वारा संज्ञान नहीं लिया गया.

मामले की जांच के दौरान डीआईजी ने पाया गया कि मुंगेर सदर अस्पताल द्वारा बड़ी लापरवाही बरती गई जिसमें घायलों को भागलपुर रेफर करने से पहले ओडी स्लिप नहीं काटा गया. वहीं, घोर लापरवाही को लेकर डीआईजी ने जिलाधिकारी से सदर अस्तपताल के विरुद्ध कार्यवाही करने पत्राचार की. उन्होंने कहा की इस मामले में उनसे पूछताछ की जाएगी और भविष्य में ऐसी मानवीय भूल नहीं करने की चेतवानी दी जाएगी.

मुंगेर डीआईजी सह भागलपुर के प्रभारी डीआईजी मनु महाराज ने मोनू प्रकरण में लापरवाह मुंगेर एवं भागलपुर के पांच पुलिस पदाधिकारियों को निलंबित कर दिया है. डीआईजी ने भागलपुर जिला के बरारी थाना के तत्कालीन थानाध्यक्ष सुनील कुमार झा, ओडी पदाधिकारी एसआई सुरेंद्र प्रसाद यादव, एसआई पूरेंद्र शर्मा एवं एएसआई शैलेश कुमार सिंह को निलंबित करते हुए विभागीय कार्यवाही का आदेश दिया है.

साथ ही अनुसंधान में वरती गयी लापरवाही के लिए कासिम बाजार थाना में तैनात तत्कालीन एसआई एवं वर्तमान में शामपुर ओपी प्रभारी लालबहादुर सिंह को निलंबित कर दिया. जबकि कासिम बाजार थानाध्यक्ष से निलंबित एवं विभागीय कार्रवाही के विरुद्ध स्पष्टीकरण पूछा है.

Sources:-Zee News

Leave a Reply

Your email address will not be published.