जब दिल्ली में लोगों ने अपने MP को नहीं दी मेट्रो में सीट, बिजी रहे मोबाइल चलाने में

राजनीति

भाजपा सांसद मनोज तिवारी का एक फोटो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। फोटो में दिख रहा है कि मनोज मेट्रो से सफर कर रहे हैं। सीट नहीं मिलने के कारण वह खड़े हैं। इस दौरान किसी ने अपने सांसद को बैठने के लिए सीट ऑफर नहीं किया। देखने के बाद भी सब मोबाइल चलाने में बिजी रहे।

बहस का बना मुद्दा

सोशल मीडिया में फोटो को लेकर बहस शुरू हो गया है। आशीष पांडेय ने लिखा है कि यह बहुत ही गलत बात है कि लोग अपने ही सांसद को बैठने के लिए सीट तक ऑफर नहीं कर रहे हैं। यह किस तरह का संस्कार है। इस फोटो को लोग शेयर करते जा रहे हैं।

भाजपा दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष भी हैं मनोज

मनोज तिवारी दिल्ली उतरी सीट से भाजपा के सांसद और दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष हैं। 2014 के चुनाव में भाजपा ने मनोज तिवारी को टिकट दिया था। जिसके बाद मनोज ने जीत दर्ज कराई थी। मनोज तिवारी बिहार के कैमूर जिले के रहने वाले हैं। वह कई भोजपुरी फिल्मों में काम कर चुके हैं। इसके अलावे वह भोजपुरी के सिंगर भी रह चुके हैं।

फिल्मों में कार्य करने से पूर्व मनोज तिवारी ने तकरीबन दस साल भोजपुरी गायक के रूप में कार्य किया। सन 2003 में उन्होने फिल्म ‘ससुरा बड़ा पैसा वाला’में अभिनय किया जो मनोरंजन और आर्थिक दृष्टि से बहुत सफल फिल्म साबित हुयी और माना जाने लगा की भोजपुरी फिल्मों का नया मोड़ शुरू हो चुका है।

इसके बाद उन्होने दो और फिल्मों ‘दारोगा बाबू आई लव यू’ और ‘बंधन टूटे ना’नामक फिल्मों में अभिनय किया। मनोज तिवारी ने एक टेलीविज़न कार्यक्रम ‘चक दे बच्चे’ में बतौर मेज़बान कार्य किया। सन 2010 में मनोज तिवारी ने प्रतिभागी के तौर पर रियलिटी शो ‘बीग बॉस’ में हिस्सा लिया। मनोज तिवारी और श्वेता तिवारी ‘कब अइबू अंगनवा हमार’ और ‘ए भौजी के सिस्टर’ नामक फिल्मों में साथ-साथ कार्य कर चुके हैं।

सन 2011 के मध्य में मनोज और उनकी पत्नी रानी में अलगाव हो गया। मनोज तिवारी ने नयी धुनें,गाने और अल्बम बनाना जारी रखा। उन्होने अनुराग कश्यप द्वारा निर्देशित फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ के लिए एक लोकप्रिय गीत ‘जिय हो बिहार के लाला’ भी गाया।

मनोज तिवारी सन 2011 में बाबा रामदेव द्वारा रामलीला मैदान पर शुरू किए गए भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन और अन्ना आंदोलन में सक्रिय रहे।

सन 2009 में मनोज तिवारी ने गोरखपुर लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से 15वीं लोकसभा चुनाव में बतौर समाजवादी पार्टी उम्मीदवार हिस्सा लिया किन्तु भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार योगी आदित्यनाथ से चुनाव हार गए। मनोज तिवारी अगस्त महीने में अन्ना हज़ारे द्वारा शुरू किए गए भ्रष्टाचार विरोधी अभियान में भी सक्रिय रहे।

फिलहाल तिवारी बीजेपी की तरफ से राजनीति में सक्रिय हैं। सन 2014 के आम चुनावों में मनोज तिवारी उत्तर पूर्वी दिल्ली लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार घोषित किए गए और चुनाव जीत गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *