पाकिस्तानी गृह मंत्रालय और डॉ मनमोहन सिंह ने सुपारी वाले बयान पर प्रधानमंत्री मोदी को निशाने पर लिया

अंतर्राष्‍ट्रीय खबरें राजनीति

गुजरात चुनाव में हो रही बयानबाजी की गूंज अब विदेशों तक जा पहुंची है। प्रधानमंत्री से लेकर तमाम कांग्रेसी नेता अब इस अखाड़े में कूद गए हैं। कांग्रेस के निलंबित वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री को नीच कहा था इसके बाद से वो जंग लगातार जारी है। दो दिन पहले रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं पर संगीन आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान को उनकी सुपारी दी है। प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि अहमद पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाने के लिये पाकिस्तान कांग्रेस का सहयोग कर रहा है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पाक उच्चायुक्त के साथ इसे लेकर बैठक भी हुई थी।

पूर्व प्रधानमंत्री ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वो प्रधानमंत्री के इस बयान से बहुत ज़्यादा आहत हुए हैं। गुजरात चुनाव में हार के डर से प्रधानमंत्री खुद इस तरह की बातें कर रहे हैं जो बहुत आहत कर देने वाला है। मनमोहन सिंह ने सफ़ाई देते हुए कहा कि राष्ट्रवाद पर उन्हें प्रधानमंत्री मोदी या उनके पार्टी से कोई सर्टिफिकेट की ज़रूरत नहीं है। उन्होंने मोदी पर पलटवार करते हुए पूछा कि क्या वो ये कारण बतायेंगे कि उन्होंने पठानकोट एयरबेस पर हमले करवाने वाले पाकिस्तान की एजेंसी ISI को यहाँ क्यों बुलाया था।


पाकिस्तानी गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसा है। मोहम्मद फैज़ल ने ट्वीट में लिखा है कि अपने चुनाव में वो पाकिस्तान को न घसीटें। चुनाव को वो अपनी क्षमता पर जीतें।
उसने प्रधानमंत्री द्वारा लगाये गए आरोप को आधारहीन एवं गैर ज़िम्मेदाराना बताया।

प्रधानमंत्री के इस बयान की आलोचना देश के भीतर ही बहुत ज़्यादा हो रही है। सोशल मीडिया में लोग अपील कर रहे हैं कि अगर सचमुच ऐसा है तो वो कांग्रेसी नेताओं पर कारवाई करें। इन बयानों को चुनावी फ़ायदे के लिये इस्तमाल न करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.