मैंगो-लीची समेत अन्‍य फ्लेवर का मिलेगा नीरा, सहरसा में 120 चलंत काउंटर को लाइसेंस जारी

जानकारी

जिले में 25 मार्च से ताड़ व खजूर का नीरा और उससे संबंधित पेड़ा, मिठाई जैसे उत्पाद की बिक्री शुरू होगी। इसके लिए चार स्थायी और 120 चलंत काउंटर का लाइसेंस उत्पाद विभाग ने जारी कर दिया। ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए जीविका समूह ने प्लेन नीरा के साथ लीची, आम,नारंगी, अनानास,स्टाबेरी, तुलसी व अन्य फलों के फ्लेवर युक्त नीरा बेचने की तैयारी की है। जिला प्रशासन लोगों के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए नीरा को इस वर्ष मुख्य शीतल पेय के रूप में प्रस्तुत करना चाहता है।

नीरा की बिक्री के लिए उत्पाद विभाग द्वारा जीविका दीदियों को अनुज्ञप्ति जारी किया जाएगा। जिले में 124 नीरा बिक्री काउंटर खोले जाएंगे। इन काउंटरों पर 60 दिन पर दो लाख एक हजार 63 लीटर नीरा बेचे जाने की योजना है। इससे जहां जीविका दीदियों व नीरा उतारनेवाले लोगों को रोजगार मिलेगा, वहीं आमलोगों को स्वास्थ्यवर्द्धक पेय सस्ते दर पर मिल सकेगा। ढाई सौ एमएल फ्लेवरयुक्त नीरा के केन की कीमत 20 रुपये निर्धारित की गई है। पेड़ा स्थानीय स्तर पर तैयार हाेने लगा है। आईसक्रीम व अन्य मिठाई बनाने के लिए जीविका दीदियों को आनलाइन प्रशिक्षण दिया गया है। आफलाइन प्रशिक्षण के बाद नीरा से संबंधित अन्य उत्पाद भी स्थानीय स्तर पर ही तैयार होगा।

जीविका द्वारा नीरा का संग्रहण करने तथा इससे गुड़, मिठाई समेत अन्य उत्पाद तैयार करने के लिए लगातार कार्यशाला के जरिए संबंधित लोगों को प्रशिक्षण दिया गया है।

स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक है नीरा

मीठा, पौष्टिक, नशारहित एवं दूधिया रंग का नीरा में शर्करा, विटामिन, खनिज लवण, फास्फोरस, आयरन, आस्कोर्बिक एसिड जैसा पौष्टिक तत्व भरपूर मात्रा में पाया जाता है। चिकित्सकों का मानना है कि तार, खजूर और नारियल के पेड़ से निकाला गया नीरा स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी लाभदाय है। इससे सेवन से लोगों के स्वास्थ्य पर काफी साकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

जिला प्रशासन के निर्देशन में नीरा के स्टाल की सभी तैयारी पूरी कर ली गई है। नीरा गर्मी के मौसम के लिए फायदेमंद हो है ही। इसे हाईटेक बनाने के लिए विभिन्न फलों का फ्लेवर इसमें मिश्रित कर लोगों को परोसा जाएगा, ताकि लोग इस ओर आकर्षित हो सके, और नीरा मुख्य शीतल पेय बने।

अमित कुमार, डीपीएम, जीविका, सहरसा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.