मजदूर से मालिक बनने की राह पर बिहारी, समीर महासेठ बोले- मुख्यमंत्री उद्यमी योजना में 8000 सेलेक्ट होंगे

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में इस साल मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत 8000 उद्यमियों का चयन होगा। इसके लिए 1 दिसंबर से आवेदन लेने शुरू होंगे। गुरुवार को पटना के अधिवेशन भवन में राज्य के सभी उप विकास आयुक्तों के लिए आयोजित कार्यशाला में यह जानकारी दी गयी। इस मौके पर उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ ने कहा है कि बिहार के लोग मजदूर से मालिक बनने की राह पर हैं। वह रोजगार मांगने वाले नहीं बल्कि रोजगार देने वाला बनना चाहते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि आज बिहार के लोग खुद का उद्योग लगाकर उद्योगपति बनना चाहते हैं। ऐसे लोगों की हमें मदद करनी है। ऐसे लोग ही बिहार को उपभोक्ता राज्य से उत्पादक राज्य बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। उद्योग मंत्री ने वहां मौजूद अधिकारियों से कहा कि यदि आप किसी एक व्यक्ति को उद्योग स्थापित करने में मदद करते हैं तो उसकी एक पीढ़ी नहीं बल्कि कई-कई पीढ़ियां आपकी आभारी होंगी।

समीर महासेठ ने कहा कि बिहार में उद्योग लगाने के लिए भरपूर सुविधाएं और अनुकूल माहौल है। बिहार के पास बड़ा लैंड बैंक है, कुशल और अकुशल श्रमिकों का बड़ा संसाधन है। बिहार में बड़ा बाजार है, भरपूर पानी है। उद्योग लगाने के लिए यह सब महत्वपूर्ण कारक हैं। हमें आत्मनिर्भर भारत के साथ-साथ आत्मनिर्भर बिहार भी बनाना है। इससे रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे।

प्रधान सचिव संदीप पौंड्रिक ने कहा कि बिहार को क्रेता से निर्माता राज्य की ओर बढ़ना है और हम इस दिशा में बढ़ चुके हैं। सभी इंडस्ट्रियल एरिया का विकास किया जाएगा। उद्योग लगाने के लिए 9 जिलों में प्लग एंड प्ले की सुविधा विकसित की गई है। इंडस्ट्रियल शेड तैयार हैं। उद्योग लगाने के लिए इंडस्ट्रियल शेड में बहुत कम मासिक दर पर उद्यमियों को स्थान उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि उद्योग विभाग की योजनाओं के संबंध में युवाओं को पूरी जानकारी उपलब्ध कराएं। उप विकास आयुक्तों को ऋण वितरण के साथ-साथ नए उद्योग लगाने पर भी फोकस करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.