बिहार में कोरोना पर काबू पाने के लिए कई संस्थाएं सरकार का सहयोग कर रही हैं. पटना के महावीर मंदिर न्यास ने मुख्यमंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपये की सहयोग राशि दी है. महावीर मंदिर न्यास के सचिव किशोर कुणाल ने बताया कि उन्होंने सरकार से कोरोना वायरस से निपटने के लिए हर संभव मदद की पेशकश की है.

किशोर कुणाल ने कहा कि अगर सरकार उन्हें गरीबों को भोजन उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी देती है तो उनकी संस्था इसके लिए तैयार है. दरअसल, कोरोना को लेकर हुए लॉकडाउन से राज्य में समस्या पैदा हो गई है. लॉकडाउन होने से दैनिक मजदूर, रिक्शा चालक और तमाम ऐसे लोगों की कमाई पूरी तरह से बंद है.

किशोर कुणाल ने कहा कि महावीर मंदिर न्यास इससे पहले भी कई आपदाओं में सहयोग कर चुकी है और इसका उन्हें अनुभव भी है. हालांकि कोरोना वायरस से लड़ने का एक मात्र तरीका सोशल डिस्टेंसिंग है. उन्होंने कहा कि इससे पहले मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार के उपचार के लिए महावीर मंदिर न्यास ने 12 लाख की सहायता राशि दी थी.

बिहार में कोरोना से लड़ने के लिए कई सांसदों ने अपने कोष से एक एक करोड़ रुपये दिए हैं. वहीं, एमएलसी देवेशचंद्र ठाकुर ने अपने 6 महीने का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने का फैसला किया है, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी अपने एक महीने का वेतन देने का फैसला किया है.

Sources:-Aaj Tak

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here