Patna: आज माघ पूर्णिमा का त्योहार मनाया जा रहा है। आज के दिन गंगा में स्नान और दान का बहुत महत्व माना गया है। ऐसा कहा जाता है कि आज के दिन गंगा में स्नान करने से सभी बाधाएं कट जाती हैं। माघी पूर्णिमा को बत्तीसी पूर्णिमा भी कहते हैं। कहा जाता है कि जो लोग आज के दिन स्नान औऱ दान करते हैं उन्हें बत्तीस गुणा अधिक फल मिलता है।

पूर्णिमा स्नान के लिए पुण्य काल शनिवार दोपहर 1:52 बजे तक रहेगा। पं. दिवाकर त्रिपाठी के अनुसार पूर्णिमा शुक्रवार दिन में 2:53 बजे से लग गई है। व्रत की पूर्णिमा शुक्रवार को थी। जबकि स्नान दान की पूर्णिमा शनिवार को होगी। दोपहर 1:52 बजे से पूर्व ही स्नान का विशेष महत्व है।

माघी पूर्णिमा के साथ माघ मेले का पांचवां स्नान पर्व आज पूरा होगा। इस स्नान पर्व के साथ एक महीने के कल्पवास का संकल्प भी पूरा हो जाएगा। अब गंगा के किनार बैठ लाखों कल्पवासी प्रस्थान करेंगे। इसलिए आज के स्नान का महत्व बहुत अधिक है।

बताया जा रहा है कि आज माघी पूर्णिमा के पावन अवसर पर करीब 15 लाख श्रद्धालुओं गंगा में डुबकी लगाएंगे। इनमें साधु, संत, आम लोग औऱ कल्पवासी शामिल हैं। इसको देखते हुए माघ मेले में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

Source: Daily Bihar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here