इस लड़के में बसते हैं भगवान हनुमान, लोग भी करते हैं पूजा, खुद को मानता है ईश्वर का वरदान

कही-सुनी

पटना: दुनिया मेें जितने तरह के लोग हैं उतने तरह की बीमारी भी है। कुछ बीमारियां ऐसी होती है जो कि बहुत दुर्लभ होते हैं। जिनके बारे में शायद हमें पता तक नहीं है। इंडोनेशिया में रहने वाला मोहम्मद रेहान ऐसी ही एक दुर्लभ बीमारी से पीड़ित है। 13 साल के रेहान को वेयरवुल्फ नाम की जेनेटिक बीमारी है। इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति के शरीर पर घने बाल उग जाते हैं और वो कुछ हद तक बंदर के जैसा दिखाई देता है।

मेडिकल साइंस की नजर में भले ही ये एक बीमारी हो लेकिन रेहान इसे बीमारी नहीं मानता है।रेहान का मानना है कि ये ईश्वर का वरदान है। अपने इसी सोच की वजह से उसने इलाज करवाने से भी मना कर दिया है।मोहम्मद रेहान इंडोनेशया के उत्तरी कालीमंतन इलाके के ममबुरुंग गांव का रहने वाला है। उसके परिवार में उसकी विधवा मां और चार बहनें हैं। वेयरवुल्फ बीमारी के कारण वो सिर से लेकर पांव तक तीन इंच लंबे बाल से ढक गया है।

रेहान के लुक को देखते हुए वहां लोग उसे हिंदू देवता हनुमान जी कहते हैं। हालांकि रेहान का कहना है कि मैं अपने असली नाम से ही खुश हूं। मुझे ईश्वर का वरदान प्राप्त है और मुझे ऑपरेशन की जरूरत नहीं।रेहान के बारे में जैसे-जैसे लोगों को पता चल रहा है वो उतना ही मशहूर होता जा रहा है।लोग उसके पास आर्शीवाद लेने के लिए आते हैं। रेहान कहता है कि लोग खुश हैं। मैं भी खुश हूं। मैं दूसरों की अपेक्षा अलग हूं। मैं ईश्वर का बच्चा हूं।

रेहान की मां इस बारे में कहती है कि उनके पति की मौत दस माह पहले हुई। उनके शरीर पर भी रेहान की अपेक्षा ज्यादा बाल थे लेकिन उन्हें कभी इसके चलते परेशानी नहीं हुई। डॉक्टर्स का वेयरवुल्फ जेनेटिक बीमारी के बारे में कहना है कि ये बीमारी दुर्लभ बीमारियों में से एक है। ये रोग लाखों में से किसी एक को होता है।सामान्यत जीन्स में परिवर्तन होने की वजह से ऐसा होता है।

Source: patrika news

Leave a Reply

Your email address will not be published.