बिहार में बनेगा देश का सबसे लंबा महासेतु, कोसी पर बनेगा 1293 करोड़ से 10.2 KM का पुल

खबरें बिहार की

देश के सबसे लंबे पुल का नया रिकार्ड फिर से बिहार के नाम होने जा रहा है। पहले यह रिकार्ड पटना के गांधी सेतु के नाम था लेकिन असम में ब्रह्मपुत्र नदी पर बने भूपेन हजारिका सेतु बनने के बाद यह रिकार्ड बिहार से छीन गया था। ताजा अपडेट के अनुसार देश के सबसे बड़े 10.2 किलोमीटर लंबे महासेतु बनाने की केंद्र ने मंजूरी दे दी है। केंद्रीय परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने 1293 करोड़ की लागत से बनने वाले इस महासेतु के निर्माण की स्वीकृति देते हुए एनएचएआई को टेंडर करने को कहा है। अगले महीने टेंडर होगा और साढ़े तीन साल में यह महासेतु बनकर तैयार होगा।

इस महासेतु के 25 किलोमीटर उत्तर कोसी नदी पर कोसी महासेतु तो 26 किलोमीटर दक्षिण में बलुआहा घाट सेतु से अभी गाड़ियां आर-पार हो रही हैं। धारा बदलते रहने वाली कोसी के स्वभाव के कारण इस महासेतु को नदी के दोनों तरफ बने पूर्वी और पश्चिमी तटबंधों को सीधे जोड़ा जा रहा है। इस कारण यह महासेतु देश का सबसे लंबा महासेतु बन जाएगा।

जानकारों की माने तो इस पुल की एप्रोच की लंबाई 8.6 किमी है। इसके निमार्ण के लिए जरूरत है 56 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहण की जाएगी। लाइव बिहार की रिपोर्ट के अनुसार इस पुल के बनने के बाद मधुबनी-सुपौल जिला मुख्यालय की दूरी घट जाएगी। प्राथमिक जानकारी के अनुसार इस पुल में होंगे 204 पिलर। 50 मीटर लंबाई वाले 50 स्पैन लगाए जाएंगे। पुल की कुल चौड़ाई 16 मीटर, सड़क की चौड़ाई 11 मीटर, दोनों तरफ 1.5 मीटर फुटपाथ होगा। इस पुल के निर्माण से 5 गांवों को महासेतु से सीधे मिलेगा फायदा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.