लॉकडाउन में सहकर्मी से हुआ प्यार, अब डेढ़ साल के बच्चे को लेकर बिन ब्याही मां पहुंची थाना

खबरें बिहार की जानकारी

अपने डेढ़ साल के बच्चे को पिता का नाम दिलाने के लिए एक बिन ब्याही मां दर-दर की ठोकर खा रही हैं। जिसे पति का प्यार दिया, वह फरेबी निकला। पहले शादी का झांसा देकर संबंध बनाया और जब युवती बच्चे की मां बन गई तो वह पहचानने से इनकार कर रहा है। थक हारकर पीड़िता ने महिला थाने की शरण ली है। मामला मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के एक गांव का है। जहां फरेबी युवक को पति का प्यार देना एक युवती को भारी पड़ गया। 20 साल की अवस्था में युवती बिना ब्याहे बच्चे की मां बन गई।

मामले को लेकर बताया जा रहा है कि डेढ़ साल पूर्व 23 साल के एक युवक से उसे प्यार हो गया था। दोनों शहर के एक मॉल में काम करते थे। उस वक्त कोरोना संक्रमण के कारण शहर में लाकडाउन की स्थिति थी। सड़क पर यात्री वाहनों का परिचालन बंद था। इसके कारण दोनों साथ आना-जाना करते थे। एक दूसरे के बीच नजदीकियां बढ़ीं। इस दौरान शादी का झांसा देकर युवक ने कई बार युवती से शारीरिक संबंध बनाया।

प्यार का रिश्ता हवस बन गया। युवक ने कई बार युवती के साथ शारिरीक संबंध बनाए। इसके बाद जब युवती प्रेगनेंट हो गई तो युवक ने उससे दूरी बढ़ा ली। दोनों अलग-अलग रहने लगे। इसी बीच युवती बिन ब्याही मां बन गई। अब उसका डेढ़ साल का एक बेटा है। उसने युवक को शादी के लिए मनाने की कोशिश की, लेकिन वह शादी के लिए राजी नहीं है।

मामले को लेकर पंचायत भी बुलाई गई। इसमें दोनों पक्षों के लोग शामिल हुए। युवती से शादी करने का फैसला सुनाया, लेकिन युवक और उसके स्वजनों को यह मंजूर नहीं है। थक हारकर पीड़िता ने महिला थाने में शिकायत की है। थानाध्यक्ष पुष्पलता ने बताया कि मामले की छानबीन जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.