बाबा का जल अर्पण अब लाइव देख सकेंगे, बड़ा स्क्रीन लगेगा मंदिर के गेट पर

आस्था

श्रावणी मेला को लेकर बाबा गरीबनाथ स्थान से लेकर कांवरिया पथों तक सुविधा-सेवा-सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने में प्रशासनिक अमला जोर-शोर से जुट गया है।

जलाभिषेक के लिए आने वाले कांवरियों को कोई परेशानी न हो, इसके लिए शुक्रवार को कमिश्नर-डीएम, एसएसपी समेत उच्चाधिकारियों की टीम ने जगह-जगह मुआयना किया। कमिश्नर आरके खंडेलवाल डीएम धर्मेंद्र सिंह ने मंदिर में पहली बार लग रहे अरघा का जायजा लिया।

न्यास समिति के सदस्यों मुख्य पुजारी पं. विनय पाठक से जानकारी लेने के बाद इसके लिए स्वीकृति दे दी। इसके पूर्व कमिश्नर ने मंदिर में पूजा-अर्चना की।

अधिकारियों की टीम ने मंदिर परिसर के बाद सभी ठहराव स्थलों कांवरिया पथ का निरीक्षण किया। डीएम धर्मेंद्र सिंह ने अधिकारियों इंजीनियरों की टीम के साथ होमियोपैथिक आरडीएस कॉलेज समेत फकुली तक कई जायजा लिया।

आरबीटीएस होमियोपैथिक कॉलेज में तीन वर्षों से बंद एक हॉल की शिकायत पर पीडब्लूडी के इंजीनियर को फटकार लगाई और तत्काल उस हॉल का ताला तोड़कर बिजली-पानी सफाई कराने के निर्देश दिए। डीएम ने उक्त अभियंता कार्य कर रही एजेंसी पर कार्रवाई का निर्देश दिया।
आरडीएस कॉलेज में गंदगी कीचड़ देखकर नाराज डीएम ने कीचड़ वाले स्थान को बालू राबिस से भरने के लिएकहा। डीएम ने टूटी सड़कों की शुक्रवार की रात में ही मरम्मत करने लाइटिंग की व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए।

बाबागरीबनाथ पर जलाभिषेक के लिए गंगाजल लाने कांवरियों का जत्था शुक्रवार को बोलबम के जयकारे के साथ पहलेजा रवाना हुआ। रवाना होने से पहले कांवरियों ने बाबा की पूजा-अर्चना की और जलबोझी के बाद रास्ते में किसी प्रकार का अवरोध हो, इसकी गुहार लगाई। श्रद्धालुओं ने अपने अपने परिवार की सुख-समृद्धि की कामना भी की।

अरघा में जलाभिषेक के दौरान कांवरिया श्रद्धालु टीवी स्क्रीन पर बाबा को जल अर्पित होते लाइव देख सकेंगे। पहली बार लग रहे अरघा से किसी के मन में कोई बात आए, इसके लिए मंदिर के गेट पर बड़ा स्क्रीन लगेगा।

स्थानीय श्रद्धालुओं के लिए मंदिर तक जाने के लिए एक ही गेट रहेगा।
प्रभात सिनेमा के पास से बैरिकेडिंग में लाइन लगकर श्रद्धालु मक्खन साह चौक होते हुए मंदिर के द्वार तक आएंगे। वहां अरघा में जलाभिषेक करने के बाद अंडी गोला या सरैयागंज की ओर से निकलेंगे।

अरघा में जलाभिषेक करने में कोई परेशानी हो, इसके लिए मंदिर के समीप जमीन डेढ़ फीट ऊंची की गई है। शुक्रवार शाम तक इस स्थल पर पीसीसी ढलाई पूरी कर ली गई। इधर, डीएम के निर्देश पर साहू रोड में बैरिकेडिंग में तेजी आई। मंदिर परिसर से होते हुए साहू रोड में कारीगर देर रात तक बैरिकेडिंग करते दिखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.