कोरोना वायरस की चुनौतियों और देश में लॉकडाउन के बीच प्र धानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील पर देशवासियों ने रात 9 बजे अपने-अपने घरों के बाहर या बलकनी में दीप जलाए। पीएम मोदी की अपील पर लोगों ने अपनों घरों की लाइट को बंद रखा और किसी ने दीप जलाए तो किसी ने मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाई। नजारा देखकर ऐसा लग रहा था जैसे रात दिवाली का महोत्सव हो।

इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने दीप जलाए। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी अपने घरों से दीप प्रज्ज्वलन में हिस्सा लिया।

पूरे देश ने दीया जलकार कोरोना के खिलाफ दिखाई एकजुटता

इस क्षण लोगों में एक ऐसा उत्साह नजर आ रहा था कि कहीं पर लोग शंख फूंक रहे थे तो कहीं एक साथ दीए लेकर 9 मिनट तक खड़े रहे। कोरोना के खिलाफ इस नजारा को देखकर ऐसा लगा रहा था कि पूरा देश बिल्कुल एकजुट होकर मजबूती से खड़ा है। पीएम मोदी की अपील पर कोरोना को अंधकार को भगाने के लिए हर धर्म और मजहब के लोग इसमें बढ़चढ़ कर शरीक हुए।

सीएम योगी बोले, 130 करोड़ की आबादी की ताकत मानेगी दुनिया

ओम के आकार में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीए लखनऊ स्थित आवास पर जलाए। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लोगों ने जिस तरह के कोरोना के खिलाफ एकजुटता दिखाई है, उसके बाद यह साफ है कि कोरोना हारेगा। इसके साथ ही, दुनिया भारत के 130 करोड़ की आबादी की ताकत को दुनिया महसूस करेगी। योगी ने इस मौके पर कहा कि जब तक लॉकडाउन चल रहा है लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

पीएम ने लोगों को दिलाई थी याद

इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (5 अप्रैल) को सुबह देशवासियों को ये बात याद दिलाई कि वे रात को नौ बजे नौ मिनट के लिए लाइट बंद करने की याद दिलाई। ट्विटर पर मोदी ने लोगों को एक बार फिर से याद दिलाते हुए हैशटैग 9 बजे 9 मिनट लिखा। कुछ ही मिनटों बाद, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी वही ट्वीट किया, “आज रात नौ बजे नौ मिनट।”

रविवार को पीएम मोदी ने 3 अप्रैल को देशवासियों से रात 9 बजकर 9 मिनट पर दीपक या मोमबत्ती जलाने को कहा था। उन्होंने कहा, “5 अप्रैल (रविवार) को, रात 9 बजे अपने घरों में सभी बत्तियाँ बंद कर दें, अपने दरवाजों पर या अपनी बालकनी में खड़े हों, और 9 मिनट के लिए मोमबत्तियाँ या दीये, टॉर्च या मोबाइल फ्लैश लाइट जलाएं।”

Sources:-Hindustan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here