18 मार्च, क्रिकेट के लिए यह तारीख बेहद अहम है. आठ साल पहले यही वो दिन था, जब मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपना आखिरी वनडे मैच खेला था. यह मैच पाकिस्तान के खिलाफ खेला गया था. सचिन तेंदुलकर ने मैच में अच्छी पारी भी खेली थी. लेकिन मैच का आकर्षण कोई और बल्लेबाज चुरा ले गया था. जानिए उस मैच की खास बातें.

सचिन तेंदुलकर ने अपना आखिरी वनडे मैच 18 मार्च 2012 को खेला था. मौका था एशिया कप का. क्रिकेट में सबसे दिलचस्प मुकाबला भारत और पाकिस्तान का माना जाता है. सचिन तेंदुलकर ने इसी मुकाबले के साथ वनडे क्रिकेट को अलविदा कहा था.

भारत-पाकिस्तान का यह मुकाबला ढाका में खेला गया था. पाकिस्तान ने पहले बैटिंग की. उसने 329 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया. पाकिस्तान की ओर से नासिर जमशेद (112) और मोहम्मद हफीज (105) ने शतक लगाए. यूनिस खान ने 52 रन की पारी खेली.

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत की शुरुआत खराब रही. सचिन तेंदुलकर ने गौतम गंभीर के साथ पारी की शुरुआत की. गंभीर बिना खाता खोले पवेलियन लौटे. भारत पर दबाव बन गया. लेकिन सचिन दबाव में कब आने वाले थे. उन्होंने 48 गेंद में 52 रन की पारी खेली, जिसमें 5 चौके व एक छक्का शामिल था.

सचिन को अपने आखिरी मैच में उस खिलाड़ी का बेहतरीन साथ मिला, जो आज उन्हीं के रिकॉर्ड तोड़ रहा है. हम बात कर रहे हैं विराट कोहली की. कोहली ने उस मैच में 183 रन की बेमिसाल पारी खेली. यह वनडे क्रिकेट में आज भी विराट की सबसे बड़ी पारी है. रोहित शर्मा ने भी मैच में 68 रन बनाए.

इस तरह भारत ने सचिन तेंदुलकर को विदाई मैच में जीत का तोहफा दिया. भारत ने यह मैच 13 गंद बाकी रहते छह विकेट से जीत लिया. विराट कोहली प्लेयर ऑफ द मैच चुने गए.

सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर में 463 वनडे मैच में 18,426 और 200 टेस्ट में 15,921 रन बनाए. उन्होंने वनडे क्रिकेट में 51 और टेस्ट क्रिकेट में 49 शतक बनाए. इस तरह वे एकमात्र खिलाड़ी हैं, जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक लगाए हैं.

Source – Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here