तेज प्रताप की शादी में शामिल होने के लिए लालू का गांव हो गया खाली!

राजनीति

पटना: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी है। पटना में लालू के घर पर जश्न का माहौल है। हर तरफ मिठाई और अच्छे पकवान की खुशबु आ रही है।

इस सबके बीच लालू यादव के पैत्रिक गांव फुलवरिया और उनके ससुराल सेलार कला में भी जश्न का माहौल है। लोगों में अपने गांव के बेटे की शादी को लेकर उत्साह है। हालांकि शादी में भाग लेने के लिए फुलवरिया और सेलार कला से शुक्रवार से ही लोगो के पटना जाने का सिलसिला जारी है। शनिवार भी सैकड़ों लोग अपने निजी वाहन से या फिर फुलवरिया- हाजीपुर एक्सप्रेस से पटना के लिए रवाना हो गए।

गांव की गलियां सुनसान और वीरान है। वजह है कि गांव के सैकड़ों लोग शादी समारोह में भाग लेने के लिए पटना पहुंचे हुए हैं। यहां लालू यादव के बड़े भाई गुलाब यादव का भी घर सुनसान पड़ा हुआ है। उनके परिवार के लोग भी तेजप्रताप यादव की शादी की रस्म में भाग लेने के लिए पहले से ही पटना गए हुए हैं।

फुलवरिया के 60 वर्षीय किसान राजेंद्र यादव बताते हैं कि वे लालू प्रसाद यादव के पड़ोस में रहते हैं। यहां गांव में सैकड़ों लोगों को शादी में शामिल होने के लिए कार्ड दिया गया है। जिसमें भाग लेने के लिए पटना के लिए लोग निकल गए हैं।

उन्हें शादी में शामिल होने के लिए न्यौता नहीं मिला था। इसलिए बिन बुलाये मेहमान की तरह वे पटना नहीं गए हैं। घर में गेहूं की दंवरी चल रही है। इसलिए वे काफी व्यस्त हैं।

गांव के युवा इश्वर सिंह के मुताबिक तेजा भईया की शादी है। यहां गांव में तेजप्रताप यादव को लोग तेजा के नाम से ही पुकारते हैं। इश्वर का कहना है की उसे भी शादी में शामिल होने के लिए कार्ड दिया गया है। लेकिन देर तक काम करने की वजह से उसकी ट्रेन छूट गयी।

इश्वर सिंह का कहना है कि फुलवरिया और सेलार कला से करीब डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों को न्यौता दिया गया है। इस शादी को लेकर गांव के लोगों में उत्साह है। ग्रामीणों के मुताबिक अगर शादी फुलवरिया गांव में होती तो और मजा आता।

source: etv bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.