लालू यादव के बेटे तेज प्रताप बोले-पिता को रिहा करे केंद्र सरकार, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भेजे जेल

कही-सुनी खबरें बिहार की

लालू यादव की तबीयत बिगड़ने के बाद रांची के रिम्स से दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया है। इस बीच उनके बड़े बेटे तेज प्रताप ने पिता की सेहत और उम्र का हवाला देकर उन्हें रिहा करने की केंद्र सरकार से मांग की है। तेज प्रताप ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी निशाना साधा।

तेज प्रताप ने कहा कि केंद्र सरकार से हम मांग करते हैं कि इस उम्र में अब हमारे पिता को रिहा कर देना चाहिए। उनका स्वास्थ्य हर दिन गिर रहा है। तेज प्रताप ने आरोप लगाया कि जिन लोगों ने यह काम (चारा घोटाला) किया है, वे खुलेआम घूम रहे हैं। हमारे पिता ने तो चारा घोटाला उजागर किया था। उन्हें झूठे मुकदमे में फंसाया गया है।

तेज प्रताप ने कहा कि वो 21 साल की उम्र से जेल जा रहे हैं। जिन लोगों ने ये काम किया है वो लोग आज सदन में बैठे हैं। तेज प्रताप ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि उन पर भी गंभीर हत्या का आरोप है। हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि उनको भी आजीवन कारावास की सजा हो।

लालू यादव को मंगलवार को मेडिकल बोर्ड की सलाह पर रांची के रिम्स से दिल्ली रेफर किया गया है। उन्हें मंगलवार की रात दिल्ली एम्स के इमरजेंसी में रखने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया था। वहां के डॉक्टरों ने रांची के रिम्स में ही इलाज की बात कही थी

इसी बीच रांची आने के दौरान एयरपोर्ट पर उनकी तबीयत दोबारा बिगड़ गई। इसके बाद बुधवार की सुबह उन्हें दोबारा एम्स लाया गया। यहां इमरजेंसी में जांच के बाद लालू को नेफ्रोलॉजी के सी-6 वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। नेफ्रोलॉजी के डॉक्टर भौमिक की देखरेख में लालू का इलाज हो रहा है।

लालू के स्वास्थ्य को लेकर उनके छोटे बेटे और बिहार में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि उनकी किडनी और हार्ट में परेशानी है। रांची में उनका क्रेटीनाइन का लेवल 4.5 था। जब दिल्ली पहुंचने पर इसे चेक किया गया तो बढ़कर 5.1 हो गया था। जब दोबारा जांच हुई तो इसका लेवल 5.9 हो चुका था। जांच रिपोर्ट बता रही है कि संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published.