लालू यादव गुरुवार को जमानत पर रिहा होंगे… अदालत का आदेश वेबसाइट पर अपलोड

खबरें बिहार की जानकारी राजनीति

चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव गुरुवार तक जमानत पर जेल से बाहर आ सकते हैं। झारखंड हाई कोर्ट के जस्टिस अपरेश कुमार सिंह ने उन्हें 22 अप्रैल को जमानत की सुविधा प्रदान कर दी थी। मंगलवार को अदालत का आदेश वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। बुधवार को उक्त आदेश निचली अदालत को फैक्स किया जाएगा। लालू के अधिवक्ता देवर्षि मंडल ने बताया कि आदेश की प्रति निचली अदालत में पहुंचने पर उनकी ओर से एक-एक लाख रुपये के दो बेल बांड भरने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। इसके साथ ही उन्हें जुर्माने का दस लाख रुपये भी निचली अदालत में जमा किया जाएगा। इसके बाद सीबीआइ कोर्ट उन्हें रिहा करने का आदेश पारित करेगी। बता दें कि लालू प्रसाद को पांचों मामलों में जमानत मिल गई है। अभी उनका इलाज दिल्ली स्थित एम्स में चल रहा है।

लालू के घर पहुंचने से पहले बिहार की राजनीति गरमाई

मालूम हो कि चंद रोज पहले दैनिक जागरण ने अपनी रपट में कहा था कि लालू प्रसाद यादव बुधवार के बाद जेल से बाहर आ सकते हैं। इसके बाद वह बिहार पहुंच सकते हैं। बिहार में लालू यादव के स्वागत की शानदार तैयारी की गई है। उनके बिहार पहुंचने से पहले ही राजनीति गरमा गई है। इस समय बिहार की राजनीति में केवल लालू यादव की ही चर्चा चल रही है। नीतीश कुमार पिछले दिनों रोजा इफ्तार में लालू यादव के घर पहुंच गए थे। चार साल बाद मतभेद भुलाकर उनके लालू दरबार में पहुंचने से सियासत नई मोड़ लेती नजर आ रही है। लालू यादव के पुत्र तेजप्रताप यादव तो यहां तक दावा कर चुके हैं कि लालू यादव के बिहार पहुंचने के बाद सत्ता परिवर्तन तय है। उनके छोटे भाई तेजस्वी यादव आने वाले दिनों में मुख्यमंत्री बनेंगे। लालू पुत्र के इस बयान ने जहां भाजपा की नींद हराम कर रखी है, वहीं नीतीश कुमार की खामोशी लोगों को नई राजनीति का संकेत दे रही है। तमाम राजनीतिक पंडित बिहार में सत्ता परिवर्तन की संभावना जताने लगे हैं। भविष्य में क्या होगा, यह तो समय ही बताएगा।

राजद कार्यकर्ताओं के साथ परिवार में भी जश्न का माहौल

बहरहाल, लालू यादव की जमानत और बिहार पहुंचने की खबर ने राजद कार्यकर्ताओं को बेहद उत्साहित कर दिया है। पार्टी की ओर से भले ही स्वागत की कोई औचारिक घोषणा या कार्यक्रम घोषित नहीं किया गया है, लेकिन राजद कार्यकर्ताओं ने लालू दर्शन और स्वागत का भरपूर प्रबंध कर रखा है। लालू यादव के परिवार में भी इस समय खुशी देखते बन रही है। दोनों पुत्रों के अलावा पत्नी राबड़ी देवी और बेटियां पापा के घर आने से गदगद नजर आ रही हैं। कहा जा रहा कि लालू यादव की तबीयत खराब चल रही है, इसलिए वह लोगों से कम मुलाकात करेंगे। राजद के वरिष्ठ नेताओं के साथ ही उनकी मुलाकात-बात होगी।

नाराज पुत्र तेज प्रताप को मनाने की पहल करेंगे लालू यादव

उधर, लालू यादव के पुत्र तेज प्रताप पर राजद नेता के साथ मारपीट करने का आरोप भी लगा है। तेजप्रताप यादव ने घोषणा कर रखी है कि पिता लालू यादव के घर पहुंचते ही वह पार्टी से इस्तीफा दे देंगे। राजद के वरिष्ठ नेताओं की मानें तो लालू यादव का पहला काम अपने नाराज पुत्र को मनाना होगा। क्योंकि तेज प्रताप यादव के बयान से राजद की छवि धुमिल होती नजर आ रही है। अगर वह इस्तीफा दे देते हैं तो राजद की और बदनामी हो सकती है। अब देखना यह होगा कि लालू यादव अपने पुत्र को किस तरह समझाते और मनाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.