बेटे के शादी के बाद लालू यादव ने तोड़ा अपना यह वादा

राजनीति

पटना: आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव पैरोल पर अपने बेटे तेज प्रताप की शादी में शामिल हुए थे. लालू यादव के आने के बाद परिवार में खुशी की लहर दौर गई थी. शादी में सभी लोग काफी खुश थे. परिवार के साथ-साथ पार्टी कार्यकर्ताओं में भी खुशी थी. लालू यादव भी अपने बड़े बेटे तेज प्रताप की शादी से काफी खुश थे. उनकी खुशी इसलिए भी थी कि बहू के आने से परिवार की परेशानियां कम होते दिख रही थी. उन्होंने खुद कहा कि बहू के आने से सब कुछ ठीक हो रहा है. लेकिन इन खुशियों के बीच लालू यादव ने अपना वादा तोड़ दिया है.

लालू यादव ने अपना कहा हुआ वादा बेटे की शादी के बाद तोड़ दिया. लालू यादव ने पिछले साल दिसंबर में खुद ही घोषणा की थी कि वह मांसाहार का सेवन नहीं करेंगे. लेकिन लालू यादव ने बेटे की शादी के बाद अपने समधियाना से मछली भात का निमंत्रण मिलने पर उन्होंने जमकर मछली का लुफ्त उठाया. बता दें कि लालू यादव मछली के बहुत शौकिन है.

कानूनी समस्या से जूझ रहे लालू यादव ने 9 दिसंबर को प्रेस कांफ्रेंस कर यह घोषणा की थी कि अब वह मांसाहार छोड़ दिया है. अपने परेशानियों से छुटकारा के लिए ज्योतिषीय परामर्श के बाद लालू यादव ने मांसाहार छोड़ने का फैसला लिया.

ज्योतिषी शंकर चरण त्रिपाठी ने लालू यादव को सलाह दी थी कि मांसाहार छोड़ने से उन्हें तत्काल समस्याओं से मुक्ति मिलेगी. उनके सलाह के बाद लालू यादव ने मांसाहार खाना छोड़ दिया और शाकाहारी खाना खाने लगे. उन्होंने खुद इसकी घोषणा भी की. उन्होंने कहा कि अब मैं शुद्ध शाकाहारी हूं.

हालांकि उन्होंने बेटे की शादी के बाद शाकाहार होने का वादा तोड़ दिया है. उन्होंने बेटे के शादी के बाद समधियाना में जमकर मछली भात खाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.