लालू यादव- ये कैसी ईमानदारी, नीतीश पर भी तो हत्या का आरोप

राजनीति

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने आज नीतीश के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कहा कि मुझे इसका दुख है लेकिन उन्होंने मुझे बदनाम किया। लालू ने आगे कहा कि महागठबंधन की तीनों पार्टियां मिलकर नया नेता चुने। साथ ही लालू ने कहा कि न नीतीश न तेजस्वी कोई तीसरा मुख्यमंत्री बने।

पटना में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में लालू ने नीतीश पर एक बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि ये कैसी ईमानदारी है, वो खुद (नीतीश कुमार) हत्या के आरोपी हैं। साथ ही लालू ने कहा कि नीतीश ने नोटबंदी और राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा का साथ दिया।

इससे पहले आज सुबह लालू प्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कभी उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद का इस्तीफा नहीं मांगा। लालू ने कहा कि तेजस्वी इस्तीफा नहीं देंगे, यह राजद विधानमंडल की बैठक में तय हो चुका है।

वहीं, डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने भी मीडिया से बातचीत में क​हा कि नीतीश कुमार ने मुझसे कभी इस्तीफा नहीं मांगा। पटना में राजद विधानमंडल दल की बैठक के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में लालू ने महागठबंधन में किसी प्रकार की टूट से इनकार करते हुए कहा, ‘महागठबंधन में कोई टूट वाली बात नहीं है। मैं रोज नीतीश कुमार से बात करता हूं। कल ही रात को हमारी बात हुई।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.