ललन सिंह ने मोहन भागवत और नमो पर साधा निशानाः गुजरात में आरक्षण समाप्त किया, बिहार में साजिश चल रही

कही-सुनी खबरें बिहार की

बिहार में नगर निकाय चुनाव स्थगित होने के बाद अति पिछड़ी जाति को आरक्षण के सवाल पर जेडीयू और बीजेपी के बीच घमासान चरम पर है। दोनों दलों के नेताओं ने सोशल मीडिया को जंग का मैदान बना दिया है।  बीजेपी चुनाव रद्द होने के लिए नीतीश कुमार को जिम्मेदार बताती है। दूसरी ओर जेडीयू बीजेपी पर आरोप लगा रही है कि भाजपा पिछड़े वर्ग के संवैधानिक आरक्षण को समाप्त करने की साजिश रच रही है।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह सुशील कुमार मोदी के एक को हथियार बनाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। ललन सिंह ने कहा है कि गुजरात की तरह बिहार में आरक्षण समाप्त करने की भाजपा की साजिश असफल साबित होगी।  सुशील मोदी में अब सच बोलने का साहस नहीं रहा। इनके नेता नरेंद्र मोदी सिर्फ राजनीतिक लाभ लेने के लिए पिछड़ा वर्ग से से हैं।

ललन सिंह आगे लिखते हैं कि गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए अपनी कलम से नरेंद्र मोदी ने अपनी जाति को पिछड़ा वर्ग में शामिल किया। अब संवैधानिक आरक्षण को समाप्त करने की साजिश रच रही है।

इससे पहले ललन सिंह है सुशील मोदी को संबोधित करते हुए ट्वीट कर पूछा था था कि गुजरात में आरक्षण खत्म कर चुनावी चुनाव कराया कि नहीं ? 2015 में आर एस एस प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण खत्म करने की वकालत की थी या नहीं?  बिहार में भी आपकी यही साजिश है।  इसका पर्दाफाश हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.