जानें क्यों 5 करोड़ जीतनेवाला बिहारी घर-घर जाकर लगा रहा चंपा का फूल

खबरें बिहार की

पटना: साल 2011 में कौन बनेगा करोड़पति शो से 5 करोड़ जीतकर सुशील कुमार सुर्खियों में आ गए थे। एक टीवी शो ने उनकी जिंदगी बदल दी थी। 7 साल बाद विनर सुशील कुमार एक नई जिद को पूरा करने में जुट गए हैं। उनका सपना अगर पूरा होता है तो पूरे जिले की तस्वीर बदल जाएगी।

बता दें कि सुशील कुमार इन दिनों घर-घर जाकर चंपा का फूल लगवा रहे हैं। वे लोगों को इसके लिए जागरूक कर रहे हैं। इसकी महत्ता बता रहे हैं। उनका कहना है कि चंपारण अब दो भागों में बंट गया है। लेकिन, इसका नाम जिस वजह से चंपारण पड़ा। वो पूरी तरह से मिट गया है। चंपा के जंगलों की वजह से पूरा क्षेत्र चंपा अरण्य के नाम से जाना जाता था। बाद में इसका अपभ्रंश चंपारण हो गया।



इसलिए लगवा रहे हैं फूल

बदलते हुए समय में पूरे इलाके से जंगल खत्म होने के कगार पर है। चंपा के फूल तो गायब ही हो गए हैं। सुशील कुमार पूरे इलाके को फिर से चंपा के फूलों से गुलजार करना चाहते हैं।चंपारण सत्याग्रह शताब्दी बर्ष के समापन अवसर पर उन्होंने यही करने का ठाना है। उनका कहना है कि हर घर में ये फूल लगना चाहिए। यही वजह है कि सुशील कुमार घर-घर जाकर फूल लगवा रहे हैं। महिलाओं को इस बारे में जानकारी दे रहे हैं।

कभी मनरेगा में करते थे काम
सुशील कुमार साल 2007 में पढ़ाई के साथ-साथ मनरेगा में कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी करते थे। 2011 में केबीसी जीतकर वो रातों रात हीरो बन गए थे। जीत के बाद उन्होंने कहा था कि सिविल सर्विस परीक्षा पास करना उनका सपना है। लेकिन, सुशील कुमार ऐसा नहीं कर सके। उन्होंने जीत की रकम से गांव में घर बनवाया।

पत्नी के कहने पर दिया था एग्जाम
साल 2011 का हीरो बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) भी दे चुका है। इसमें उन्हें 140 में से 100 नंबर अंक हासिल हुए हैं। उन्होंने कहा कि पत्नी के कहने पर उन्होंने एग्जाम दिया था। ओबीसी रहते हुए भी वे क्रिमी लेयर में आ गए थे। इस वजह से जनरल कैटेगरी से ही उन्होंने एग्जाम दिया था।

Source: Etv bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.