कंप्यूटर सा तेज है BIHAR के इन बच्चों का दिमाग, तीन सेकंड में ही दे दिया जवाब

कही-सुनी

बिहारी छात्र-छात्राएं न सिर्फ इंजीनियरिंग, सिविल सर्विसेज और मेडिकल के एग्जाम में धूम मचाते हैं, बल्कि ये प्रतिभा तो बचपन से ही नज़र आने लगती है उनमें।

कल्पना कीजिए कि आपसे पूछा जाए 143×789 का जवाब तो आप बताने में कितना समय लेंगे? कैलकुलेट करने के लिए आपको पेन या कैलकुलेटर की जरूरत पड़ेगी या नहीं?

आप शायद इसे सोल्वे करने के लिए कैलकुलेटर या काम से काम पेपर-पेन की मदद तो जरूर लेंगे। लेकिन बिहारशरीफ के यूसी एमएएस सेंटर के बच्चे ने सवाल सुनकर केवल 3 सेकेंड में जवाब देने के लिए अपना हाथ उठा लिया और एकदम सही जवाब 112827 बताकर वहां मौजूद सभी लोगों को हैरत में डाल दिया।

पटना के मगध महिला कालेज में यूसी एमएएस दिल्ली द्वारा आयोजित राज्य-स्तरीय अबेकस एंड मेंटल अरिथमेटिक प्रतियोगिता में अपनी प्रतिभा का परिचय देते हुए इन दोनों ने सभी को हैरत में डाल दिया और चैम्पियन का खिताब जीतने में सफल रहे। ये दोनों बच्चे शहर के गढ़पर स्थित किड्स स्क्वायर लिटिल फ्लावर्स स्कूल में चलने वाले यूसी एमएएस सेंटर में पढ़ते हैं।

बिहारशरीफ सेंटर के अह्जम अह्सर लिखित में और आयुषी मौखिक में चैम्पियन रही। इन बच्चों को मेडल और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। ये बच्चे थर्ड लेवल के हैं। यूसी एमएएस बिहारशरीफ सेंटर की फ्रेंचाइजी पिंकी सिन्हा ने बताया कि यूसीएमएएस 5 से 14 वर्ष के बच्चों के बीच इस प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाती है जो बच्चों में ऐसी तकनीक प्रतिभा जिससे बच्चे गणित के कठिनतम प्रश्नों को सेकेंडों में हल कर सके, विकसित करती है।

उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता में पूरे स्टेट के बच्चे शामिल हुए थे। कुल आठ चरणों में आयोजित की गई प्रतियोगिता में बच्चों से कुल 200 प्रश्नों के जवाब पूछे गए। प्रत्येक चरण के प्रश्नों का जवाब महज आठ मिनट में देना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.