खुशखबरी! टमाटर 40 रुपये किलो खरीद सकेंगे, NCCF, NAFED इस तारीख से डिस्काउंट पर बेचेंगे

जानकारी

थोक और खुदरा बाजारों में टमाटर के दाम (Tomato Prices) आसमान पर चढ़ने के बाद अब लगातार गिरावट की ओर हैं. इस बीच सहकारी समितियां- एनसीसीएफ और नेफेड ने एक बयान में कहा कि वे 20 अगस्त से 40 रुपये प्रति किलो की रियायती दर पर टमाटर बेचना शुरू कर देंगी. पिछले महीने से ही एनसीसीएफ  (NCCF) और नेफेड (NAFED) टमाटर के दामों को बढ़ने से रोकने के लिए ग्राहकों को उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की ओर से रियायती दर पर टमाटर बेच रहे हैं. शुरू में सब्सिडी वाली दर 90 रुपये प्रति किलो तय की गई थी. ग्राहकों को लाभ पहुंचाने के लिए कीमतों में गिरावट के हिसाब से लगातार टमाटर के दाम को कम किया गया था.

दिल्ली-एनसीआर में सब्सिडी पर टमाटर की खुदरा बिक्री 14 जुलाई से शुरू हुई थी. अब तक दोनों एजेंसियां 15 लाख किलो से अधिक टमाटर खरीद चुकी हैं और इसे देश के प्रमुख शहरों में खुदरा ग्राहकों को बेचा जा रहा है. इन शहरों में दिल्ली-एनसीआर, राजस्थान के जयपुर- कोटा, उत्तर प्रदेश के लखनऊ- कानपुर- वाराणसी- प्रयागराज और बिहार के पटना- मुजफ्फरपुर- आरा- बक्सर शामिल हैं. उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के निर्देश पर एनसीसीएफ और नेफेड ने आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र की मंडियों से टमाटर की खरीद शुरू की थी. पिछले एक महीने में टमाटर की खुदरा कीमतों में अधिकतम बढ़ोतरी दर्ज की गई है.पिछले महीने आरबीआई ने अपने बुलेटिन में कहा था कि टमाटर बहुत कम समय में बहुत ज्यादा खराब होने वाली चीज है.

इसकी कीमतों में काफी मौसमी बदलाव दिखाई देता है लेकिन ये घटनाएं कम समय के लिए होती हैं. अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग समय वाले कई फसल चक्रों के कारण एक ही साल में कीमतों में एक से अधिक बार बढ़ोतरी होती है. जबकि सालाना दाम सामान्य तरीके से बढ़ते हैं. हाल ही में भारी बारिश के कारण प्रमुख शहरों में टमाटर की खुदरा कीमत तेजी से बढ़ी और 250 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गई. टमाटर की आसमान छूती कीमतों से ग्राहकों को राहत देने के लिए केंद्र सरकार देश के कई हिस्सों में रियायती दर पर टमाटर बेच रही है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *