खेत में मिला 24 फीट का अजगर, ग्रामीणों ने पकड़ा, वनपाल के इनकार करने पर दूर ले जाकर छोड़ दिया

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के अररिया में करीब 24 फीट का अजगर देखे जाने के बाद सनसनी फैल गई। जिले के रानीगंज के पचीरा में एक किसान की खेत में यह विशाल अजगर जमीन पर था। ग्रामीणों ने जाल में फंसाकर अजगर को पकड़ लिया और उसे विभाग को सूचना दी। लेकिन वनपाल ने उसे ले जाने से मना कर दिया तो अजगर को दूर ले जाकर छोड़ दिया गया। अजगर को देखने के लिए मौके पर काफी भीड़ जुट गई।

पचीरा पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि महेंद्र मंडल ने बताया कि पचीरा-श्रीनगर माइनर नहर के समीप मूंगफली के खेत में काम कर रहे कुछ मजदूरों ने विशाल अजगर सांप को देखा। डर के मारे मजदूर काम छोड़कर भाग निकले। मजदूरों ने सूचना दी तो गांव के लोग मौके पर पहुंचे। इसके बाद स्थानीय लोगों की मदद से अजगर को पकड़ लिया गया।

पकड़ने में दौरान कुछ लोगों ने लाठी से मारकर अजगर को घायल भी कर दिया। इधर स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने अजगर सांप पकड़ने की सूचना रानीगंज वन विभाग के वनपाल को दिया। लेकिन वनपाल प्रदीप सिंह द्वारा वृक्ष वाटिका में अजगर को रखने से मनाही करने पर अजगर को सिमराहा के समीप एक मैदान में छोड़ दिया गया।

5 माह में चार विशाल अजगर वनकर्मी को सौंपा गया 

रानीगंज क्षेत्र में बीते चार पांच महीने के भीतर ही चार विशाल अजगर सांप को ग्रामीणों ने पकड़कर वृक्ष  वाटिका के हवाले कर चुकी है। लेकिन अजगर सांप निकलने की घटना थमने का नाम नहीं ले रहा है। रानीगंज वृक्ष वाटिका में यूँ तो सरकारी गिनती के दो दर्जन से अधिक अजगर मौजूद है लेकिन वनकर्मियों व स्थानीय लोगों की माने तो केवल रानीगंज वृक्ष वाटिका में 40 से अधिक अजगर मौजूद है।

रानीगंज स्थित वन विभाग की वृक्ष वाटिका से निकलकर अजगर सांप अक्सर आबादी वाले इलाकों में पहुंच जाते है। वहीं खेतों में चरने जा रही बकरियों व अन्य पालतू जानवरों को अपना शिकार बनाते है। वहीं आम लोगों को भी अजगर सांप से खतरा बना रहता है।

रानीगंज के बघुवा टोला, हसनपुर, बालू टोला, आदि जगहों पर अक्सर अजगर सांप निकलते है। रानीगंज वृक्ष वाटिका के वनपाल प्रदीप कुमार सिंह ने बताया कि वरीय अधिकारियों द्वारा रानीगंज वृक्ष वाटिका में अजगर को रखने की  मनाही की गई है। रानीगंज में चिड़ियाघर बनने जा रहा है इसलिए अजगर को रखने से मना किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.