खाकी वर्दी वाले 4 लुटेरों का बचना इस बार मुश्किल है, कोर्ट से गिरफ्तारी का वारंट लेगी पटना पुलिस

खबरें बिहार की

खाकी वर्दी वाले 4 लुटेरों का बचना इस बार मुश्किल है. इनके खिलाफ सख्त पुलिसिया कार्रवाई तय है. फरार चल रहे सिपाही वेद निधि उर्फ लाली समेत चारों पुलिस वालों का जेल जाना और पुलिस की सेवा से बर्खास्त होना पक्का है. संभव है कि सोमवार को फरार चल रहे चारों सिपाहियों के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट हासिल करने के लिए पटना पुलिस कोर्ट में अपील दायर करेगी. एसएसपी मनु महाराज के अनुसार पुलिस टीम कोर्ट से गिरफ्तारी का वारंट हासिल करेगी.

पुलिस की वर्दी पहनकर लूट और रंगदारी जैसे आपराधिक वारदातों को अंजाम देने वालों के खिलाफ पटना पुलिस सख्त कार्रवाई करने के मूड में है. सिपाही वेद निधि समेत फरार सभी चारों सिपाहियों की कुंडली को भी पटना पुलिस खंगाल रही है.

कुंडली खंगालने के पीछे ये है वजह

कुंडली खंगालने के पीछे की ठोस वजह भी है. जबरन जमीन पर कब्जा दिलाने के मामले में पटना के पाटलिपुत्रा थाने की पुलिस ने वेद निधि को गिरफ्तार किया था. मामला कुछ साल पहले का है. वो जेल की हवा भी खा चुका है. इसके खिलाफ पाटलिपुत्रा के अलावा राजधानी के बेउर सहित कई दूसरे थानों में भी आपराधिक मामले दर्ज हैं. वेद निधि अपने साथी सिपाहियों के साथ मिलकर जबरन लोगों की जमीन पर कब्जा दिलाने का ठेका भी लेता था. इसके लिए मोटी रकम वो वसूल करता था. साथ ही कई लोगों से रंगदारी भी वसूल कर चुका है.

सोर्स बताते हैं कि इसने कई शराब माफियाओं को भी अपना संरक्षण दे रखा था. शराब बेचवाने में ये मदद किया करता था. हालांकि पुलिस अधिकारियों ने शराब के मामले पर पुष्टि नहीं की है.

गुजरात के सोना कारोबारी से लूट का है मामला

गौरतलब है कि 13 जुलाई को पटना के बाकरगंज में फरार चल रहे चारों सिपाहियों ने चार अपराधियों के साथ मिलकर गुजरात के राजकोट से पटना आए सोना कारोबारी को लूट लिया था. हथियार दिखाकर उनसे एक किलो सोना लूटा था. शनिवार को ही इस मामले का खुलासा पटना पुलिस ने किया और वारदात में शामिल चारों अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.