केवल तीन मिनट में पूरी एटीएम ही गायब कर देता ये गैंग, राजस्‍थान और हरियाणा में होती कुरैशी गिरोह की ट्रेनिंग

खबरें बिहार की जानकारी

बैंकों की एटीएम (Automatic Teller Machine) तोड़कर रुपए चुराने वाले गिरोहों ने अब अपना तरीका बदल दिया है। एटीएम तोड़कर रुपए निकालने में अक्‍सर अधिक देर लगने के कारण ऐसे गिरोह मौके पर ही पकड़े जा रहे थे। इसे देखते हुए ऐसे गिरोह अब पूरी मशीन ही उखाड़कर ले जाने लगे हैं। पटना में एक स्‍कार्पियो से आए बदमाश केवल तीन मिनट में एटीएम उखाड़कर लेते गए।

शुक्रवार की रात का है मामला

 

कंकड़बाग थाना क्षेत्र के अशोक नगर रोड नंबर 14 की आरएमएस कालोनी में स्थित इंडीकैश की एटीएम को शुक्रवार की आधी रात चोरों ने उखाड़ लिया और स्कार्पियो से लेकर भाग निकले। एटीएम रूम में लगे सीसी कैमरों को भी चोर नोंच कर साथ लेते चले गए।

बगल की दुकानों के कैमरे में दिखे

हालांकि, उनकी तस्वीर बगल की दुकानों में लगे कैमरों में कैद हो गई है। थानाध्यक्ष रविशंकर सिंह ने बताया कि एटीएम में तीन लाख नगदी होने की बात सामने आई है। एटीएम की देखरेख करने वाली एजेंसी के अधिकारी की लिखित शिकायत पर प्राथमिकी की गई है। चोरों का पता लगाया जा रहा है।

महज तीन मिनट में वारदात

बताया जाता है कि बदमाशों रात करीब 12 बजकर 22 मिनट पर आए और तीन मिनट में वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। वे क्रीम कलर की पुरानी स्कार्पियो से आए थे। उन्होंने एटीएम के बगल में रुई की दुकान पर गाड़ी खड़ी की। दो बदमाश छेनी और राड लेकर अंदर गए। इसके बाद एक बदमाश बाहर आया। उसने दो अन्य साथियों को बुलाया। तीन बदमाश एटीएम रूम के अंदर गए, जबकि चौथा वहीं खड़ा रहा।

तीन मिलकर मशीन को बाहर लाए

थोड़ी देर बाद अंदर रहे तीन बदमाश एटीएम लेकर बाहर आए और कार की डिक्की को खोल कर उसमें मशीन रख दी। इस बीच चौथा अंदर गया और वह कैमरा नोंच कर साथ लेता आया। गाड़ी स्टार्ट करने के बाद वे रोड नंबर 14 होते हुए न्यू बाईपास की तरफ भाग निकले। सूत्रों की मानें तो सीसीटीवी फुटेज में स्कार्पियो का नंबर स्पष्ट नहीं दिख रहा। पुलिस बाईपास पर लगे कैमरों के फुटेज भी खंगाल रही है।

कुरैशी गिरोह पर गहराया पुलिस का शक

एटीएम उखाड़ कर साथ ले जाने में माफिर हरियाणा के कुरैशी गिरोह पर पुलिस को गहरा शक है। तीन वर्ष पहले इस गिरोह के चार अपराधियों को 15 लाख रुपये और स्कार्पियो के साथ औरंगाबाद जिले से पटना पुलिस ने पकड़ा था। हालांकि, गिरोह का मुख्य सरगना पुलिस के हाथ नहीं आ सका।

राजस्‍थान और हरियाणा में लेते हैं ट्रेनिंग

गिरोह के सदस्यों को राजस्थान और हरियाणा में एटीएम उखाड़ने का प्रशिक्षण दिया जाता है। गिरोह की खासियत है कि इसके सदस्य बिना रेकी किए वारदात को अंजाम देते हैं। वे लग्जरी वाहन से शहर में घूमते रहते हैं। जिस एटीएम पर नजर पड़ती, जहां कोई खतरा नहीं दिखता, उसे उखाड़ कर ले जाते हैं।

एक ही रात में उखाड़ी थी पांच एटीएम

दो साल पहले इसी गिरोह ने एक ही रात में पांच एटीएम उखाड़ कर पुलिस की रात्रि गश्ती की पोल खोल दी थी। कंकड़बाग थाने की पुलिस जेल गए इस गिरोह के सदस्यों की अद्यतन गतिविधियों और ठिकानों का पता लगा रही है।

एटीएम उखाड़ने के मामले

  • फरवरी 2018: फुलवारीशरीफ में एटीएम काटकर सात लाख की चोरी
  • जुलाई 2018: एनटीपीसी में 12 लाख कैश सहित एटीएम मशीन उखाड़ ले गए।
  • अगस्त 2018: अगमकुआं में एटीएम काट निकाले गए नौ लाख रुपये।
  • अगस्त 2018: पत्रकारनगर में एटीएम काटकर दस लाख रुपये लेकर फरार।
  • नवंबर 2018: सगुना मोड़ पर एटीएम काटकर आठ लाख की चोरी।
  • नवंबर 2018: बेउर में एटीएम काटकर शातिर 34 लाख उड़ा ले गए।
  • जनवरी 2019: जक्कनपुर, अगमकुआं, आलमगंज में एटीएम काट 35 लाख की चोरी
  • अक्टूबर 2021: फुलवारीशरीफ में 21 लाख कैश से भरे एटीएम चुरा ले गए शातिर।
  • दिसंबर 2021: बिहटा प्रखंड के अमहारा में मशीन ही शातिर उखाड़कर ले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.