25 जुलाई से शुरू होने वाली कांवड़ यात्रा के लिए मुख्यमंत्री योगी ने दी मंजूरी, हरिद्वार में प्रतिबंध की गई यात्रा पर होगा नए सिरे से पुनर्विचार

आस्था

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 25 जुलाई से शुरू हो रही कांवड़ यात्रा को निर्विघ्न संपन्न कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। कांवड़ यात्रा ऐसे समय में हो रही है जब चारों तरफ जानलेवा कोरोना वायरस का खतरा है. ऐसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड काल को ध्यान में रखते हुए कांवड़ यात्रा को सुचारू रूप से चलाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं.

सीएम योगी ने निर्देश दिया कि पड़ोसी राज्यों से संवाद स्थापित कर कांवड़ यात्रा को पूरा किया जाए. हालाँकि, उत्तराखंड में इस साल भी कांवड़ यात्रा प्रतिबंधित करने का ऐलान किया गया है. उत्तराखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश में जलाभिषेक के लिए श्रद्धालु कोरोना के नियमों का पूरी तरीके से पालन करें.

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 93 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान 218 डिस्चार्ज हुए. सक्रिय मामलों की कुल संख्या 2,032 है और अब तक कुल 16,82,130 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं. रिकवरी रेट 98.4% है.

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि 25 जुलाई से परंपरागत कांवड़ यात्रा प्रारंभ हो रही हैं. इस दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का भी पूरी तरह से पालन किया जाए. श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या उत्तराखंड और बिहार आदि राज्यों में जलाभिषेक के लिए जाती है. कोविड प्रोटोकॉल को दृष्टिगत रखते हुए संबंधित राज्यों से संवाद कर यात्रा के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए जाएं. सहगल ने बताया कि कांवड़ यात्रा को सुचारु रूप से चलाने के लिए विस्तृत रूप रेखा जल्द ही तैयार की जाएगी.

उधर, सूत्रों का कहना है कि हरिद्वार में प्रतिबंध की गई कांवड़ यात्रा पर अब नए सिरे से पुनर्विचार किया जाएगा. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और सीएम पुष्कर धामी के बीच हुई बात के बाद सरकार ने यू टर्न ले लिया है. मंगलवार पूर्वाह्न पुलिस मुख्यालय में डीजीपी अशोक कुमार की अध्यक्षता में कांवड़ यात्रा को लेकर सात राज्यों के पुलिस अफसरों की बैठक हुई, जिसमें उत्तर प्रदेश व हिमांचल प्रदेश के अफसरों ने प्रत्यक्ष जबकि अन्य राज्यों के अफसरों ने आनलाइन के जरिए बैठक में हिस्सा लिया.

सरकार ने कोरोना संक्रमण के मद्देनजर 30 जून को कांवड़ यात्रा स्थगित रखने के आदेश किए थे. बैठक में इस आदेश को कड़ाई से लागू करने और संबंधित राज्यों से अपेक्षा की गई की वे कांवड़ यात्रा हत्तोसाहित करने के लिए प्रचार प्रसार करें. योगी सरकार हर साल कांवड़ियों के लिए विशेष इंतजाम करती रही है. इसके लिए उन्हें जगह-जगह पानी, आराम की सुविधा के साथ ही उनके स्वागत में हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा आदि भी की जाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.