कल से तीन दिनों तक अपनी मिट्टी का जन्मोत्सव मनाएगा बिहार, पटना गांधी मैदान में उद्घाटन करेंगे सीएम नीतीश

खबरें बिहार की जानकारी

मंगलवार को बिहार अपनी स्थापना का 110वां जन्मोत्सव मनाएगा। 22 मार्च 1912 को बिहार (उड़ीसा व झारखंड समेत) अस्तित्व में आया था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दिशा-निर्देश पर इस बार भव्य अंदाज में तीन दिवसीय बिहार दिवस समारोह मनाया जा रहा है। कोरोना संकट के चलते दो साल बिहार दिवस समारोह बाधित हुआ। जबकि 2019 में लोकसभा चुनाव की घोषणा के चलते यह आयोजन बड़े पैमाने पर नहीं हुआ। शिक्षा एवं संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने रविवार को मुख्य आयोजन स्थल गांधी मैदान स्थित प्रशासनिक भवन में पत्रकारों को बताया कि प्रदेश में ही नहीं, बल्कि देश-दुनिया में बिहार दिवस बिहारीपन की पहचान बन चुका है।

जल-जीवन-हरियाली थीम पर फोकस कार्यक्रम

विजय चौधरी ने बताया कि बिहार सरकार के महत्वपूर्ण अभियान जल-जीवन-हरियाली थीम पर आधारित है बिहार दिवस समारोह। बिहार के ऐतिहासिक गौरव का ध्यान में रखते हुए तीन दिवसीय समारोह को शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं सामाजिक रूप भव्य स्वरूप दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंगलवार को शाम साढ़े पांच बजे गांधी मैदान में इस समारोह का उद्घाटन करेंगे। 24 मार्च को राज्यपाल फागू चौहान द्वारा समारोह का समापन किया जाएगा। पूरे आयोजन में आमलोगों की ज्यादा से ज्यादा भागीदारी सुनिश्चित होगी और उन सब के लिए नृत्य-संगीत व नाट्य प्रस्तुति के अतिरिक्त कई और रूचिकर सांगीतिक कार्यक्रम का भी इंतजाम किया गया है।

एक साथ पांच सौ ड्रोन का प्रदर्शन

पहली बार गांधी मैदान में 500 ड्रोन का एकसाथ प्रदर्शन होगा। जबकि लेजर शो से बिहार की विरासत के बारे में जानकारी दी जाएगी। वहीं नेशनल बुक ट्रस्ट की ओर से पुस्तक मेला और पर्यटन विभाग द्वारा बिहारी व्यंजन मेला का आयोजन होगा। दिल्ली हाट की तर्ज पर पहली बार गांधी मैदान में पटना हाट भी तैयार किया गया है जो आगंतुकों के लिए मुख्य आकर्षण का केंद्र होगा। हाट में बिहार से जुड़े हस्तशिल्प समेत अन्य वस्तुओं की प्रदर्शनी होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.