कैसे हवाई जहाज में सफर के शौक ने सकीबुल गनी को बना दिया क्रिकेटर, रणजी डेब्यू में ट्रिपल सेंचुरी से छाए

खबरें बिहार की जानकारी

कोलकाता के जाधवपुर विश्वविद्यालय मैदान में खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी मैच में पूर्वी चम्पारण के लाल सकीबुल गनी ने अपने डेब्यू मैच में ही तिहरा शतक जड़ते हुए इतिहास रच दिया। सकीबुल बचपन से ही क्रिकेट खेलता था मगर इसके प्रति उसकी दीवानगी के पीछे का राज बड़ा रोचक है। सकीबुल अपने बड़े भाई फैसल गनी को वर्ष 2009 में अंडर 19 खेलने के लिए पटना एयरपोर्ट छोड़ने गए थे।

फैसल ने बताया कि मुझे हवाई जहाज में बैठते देख सकीबुल को लगा कि वह भी क्रिकेट खेलेगा तो फ्लाइट से यात्रा कर सकेगा। और उसके बाद से उसपर क्रिकेट का जुनून सवार हो गया। सकीबुल के पिता मो. गन्नान गनी पीडीएस दुकान चलाते हैं। मो. गन्नान ने बताया कि बच्चों की परवरिश के बीच उन्होंने कभी मुफलिसी को नहीं आने दिया। उनकी मां ने गहने गिरवी रखकर बैट खरीदे। मैंने दिन-रात मेहनत कर उसकी सुविधाओं और जरूरतों का खयाल रखा। उसकी मेहनत और लोगों की दुआ रंग ला रही है। अल्लाह से दुआ है कि वह अपने देश के लिए भी खेले।

 

पूर्वी चंपारण के डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने सकीबुल गनी के असाधारण प्रदर्शन पर बधाई व शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि रणजी ट्रॉफी के उपरांत सकीबुल गनी के जिला मुख्यालय पहुंचते ही जिला प्रशासन एक कार्यक्रम आयोजित कर उसे सम्मानित करेगा।

 

खेल के लिए छोड़ दी इंटर की परीक्षा

सकीबुल ने वर्ष 2021 में इंटर एग्जाम के दौरान बंगलुरू में चल रहे विजय हजारे सीनियर ट्रॉफी में भाग लेने के लिए इंटर की परीक्षा बीच में ही छोड़ दी। बड़े भाई फैसल गनी बताते हैं कि सकीबुल को क्रिकेट गॉड गिफ्टेड है। पढ़ाई से ज्यादा खेल में रूचि है। यही वजह कि इंटर आर्टस का तीन पेपर का एगजाम देने के बाद विजय हजारे खेलने चेन्नई रवाना होगा। वर्ष 2022 में भी इंटर परीक्षा नहीं दे सका।

 

बड़े भाई हैं गुरु

 

शकिबुल के बड़े भाई फैज अली भी राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में बिहार के लिए खेल चुके हैं। उन्हीं की ट्रेनिंग में शकिबुल ने क्रिकेट की बारीकियां सीखी हैं।

 

गेंदबाजी में भी उपयोगी

बेहतरीन बल्लेबाजी के अलावा सकिबुल टीम के लिए उपयोगी गेंदबाज के रूप में भी काम आते हैं। दाएं हाथ के मध्यम गति की गेंदबाजी से उन्होंने बल्लेबाजों को कई बार चौंकाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.