कहीं आपके पास नकली नोट तो नहीं है? बिहार में साइबर कैफे की आड़ में जाली नोटों की छपाई, धंधेबाज प्रिंटर से छापते थे नोट

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार  के पूर्वी चंपारण (मोतिहारी) के छतौनी थाने की पुलिस ने शहर के एक मीट हाउस के समीप से जाली नोट के चार धंधेबाजों को गिरफ्तार किया है। धंधेबाजों के पास से आठ लाख के भारतीय जाली नोट, जाली नोट छापने वाली प्रिंटर मशीन, जाली नोट छापने में इस्तेमाल होने वाला तीन बंडल कागज, लैपटॉप, देसी कट्टा व कारतूस बरामद किया गया। धंधेबाजों को शुक्रवार की देर रात गिरफ्तार किया गया।

एसपी डॉ. कुमार आशीष ने शनिवार को बताया कि गिरफ्तार धंधेबाज पिपरा में साइबर कैफे चलाता है। वहीं पर प्रिंटर से जाली नोट छापता था। जाली नोट छापकर विभिन्न जिलों में भेजता था। वह दो लाख के असली नोट लेने के बाद पांच लाख का जाली भारतीय नोट उपलब्ध कराता था। चारों धंधेबाजों से पुलिस टीम पूछताछ कर रही है। इनके संबंध अन्य जिलों के संदिग्ध लोगों से भी जुड़े हैं। संबंधित जिले के पुलिस अधिकारी को सूचना दी गई है।

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार धंधेबाजों में पिपरा थाना क्षेत्र के चिंतामनपुर का संदीप साहनी, पिपरा के ही बेदिबन मधुबन का राजेश कुमार, शिवहर जिला के परसौनी तैयब गांव का दीपक कुमार व कोठिया का सुबोध कुमार शामिल हैं। छापेमारी टीम में सदर डीएसपी अरुण कुमार गुप्ता, छतौनी इंस्पेक्टर नित्यानंद चौहान, तकनीकी शाखा के एसआई मनीष कुमार, पीपराकोठी के मनोज कुमार, अंजन कुमार सिंह आदि थे।

जाली नोट की छपाई का किसी को नहीं लगी भनक


राजमार्ग 28 के किनारे पिपरा चौक स्थित राज डिजिटल साइबर कैफे में जाली नोटों की छपाई के भंडाफोड़ ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं।  पिपरा मार्केट में स्थित इस साइबर कैफे का इतिहास भी दागदार रहा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार अनुसार पूर्व में भी इस साइबर कैफे में भारतीय रेलवे टिकट की बिक्री का भंडाफोड़ हुआ था जिसमें एक की गिरफ्तारी भी की गई थी।

फिलहाल इस साइबर कैफे का संचालन बेदीबन मधुबन का राजेश कुमार करता है। जिसके साथ चिंतामणपुर का संदीप सहनी भी गिरफ्तार किया गया है। साथ ही साथ पुलिस ने इन लोगों के साथ दो अन्य लोगों की भी गिरफ्तार किया है ।जिससे जाली नोटों की छपाई के धंधे में में एक बड़े नेटवर्क की आशंका व्यक्त की जा रही है। मोतिहारी पुलिस द्वारा आठ लाख के जाली नोटों के साथ गिरफ्तार संदीप कुमार ने इस साइबर कैफे में ही नोटों की प्रिंटिंग किए जाने का खुलासा किया है। इस खुलासे के बाद से इस बाजार के दुकानदार हैरान हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.