अभी-अभी : मांझी ने बढ़ाई लालू की मुश्किलें, कहा- लोकसभा में 20 और विधानसभा में चाहिए 120 सीटें

खबरें बिहार की

पटना: अभी-अभी बड़ी खबर आ रही है। बिहार और पूर्व सीएम और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने महागठबंधन की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। मांझी ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बाद लोकसभा चुनाव में 20 और विधानसभा में 120 सीटें मांगी हैं। मांझी के बयान से लगता है कि उन्होनें महागठबंधन के भीतर सीटों के लिए मोर्चा खोल दिया है। मांझी का बयान अब महागठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी आरजेडी के सुप्रीमो लालू यादव और उनके पुत्र तेजस्वी यादव के लिए मुश्किलें पैदा कर सकती हैं ।

इससे पहले भी मांझी सीटों को लेकर अपने बागी तेवर दिखा चुके हैं। जीतनराम मांझी ने कहा था कि उन्हें अगर सम्मान जनक सीट नहीं मिली तो वह लोकसभा चुनाव से बाहर भी रह सकते है। हालांकि उन्होंने कहा कि महागठबंधन के हित में उनकी पार्टी एक भी सीट पर चुनाव नहीं लड़ सकती है। महागठबंधन में पार्टियों की संख्या काफी अधिक है। इससे छोटे दलों को सीट शेयरिंग को लेकर डर भी सता रहा है कि उन्हें सीट मिलेगी भी या नहीं।

वहीं आरजेडी के स्टैंड के उलट मांझी सवर्ण आरक्षण की वकालत भी कर चुके हैं। जीतन राम मांझी ने सवर्णों का समर्थन करते हुए कल कहा था कि जनरल कास्ट से आने वाले गरीब लोगों को भी आरक्षण का लाभ मिलने की बात कही थी। पार्टी द्वारा दो दिवसीय कार्यकारिणी परिषद की बैठक का आयोजन किया गया है। इसमें सात राज्यों के नेता पहुंचे हैं। बैठक को संबोधित करते हुए जीतन राम मांझी ने कहा था कि सवर्णों पर हम पार्टी का स्टैंड बिलकुल स्पष्ट है। हम मांग करते हैं कि जनसंख्या के आधार पर सवर्णों को भी आरक्षण दिया जाए।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.