अभी-अभीः 30 घंटे तक जिंदगी-मौत के बीच जंग लड़ने वाली सना का पटना में होगा इलाज, PMCH रेफर

खबरें बिहार की

पटना: मुंगेर में 110 फीट बोरवेल में गिरी तीन साल की सना का इलाज अब पीएमसीएच में होगा। उसे बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच रेफर किया गया है। फिलहार उसका इलाज मुंगेर के सदर अस्पताल में चल रहा है। वहां के डॉक्टरों ने उसे पटना रेफर किया है। जानकारी के मुताबिक सना ने सुबह उल्टी की। मगर उसकी हालत अभी ठीक है। बातचीत कर पा रही है।

सना की मां सुधा ने बताया कि वह बहुत खुश हैं कि उनकी बेटी अब उनके साथ है। उसकी जान बच गई। उन्होंने बताया कि पहले के मुकाबले सना की हालत अब काफी ठीक है। वह बात कर पा रही है। पूछने पर अपना नाम बता पा रही है। सुधा ने बताया कि लोगों ने उनकी काफी मदद की। सना के बोरवेल में गिरने के बाद से ही उनके पड़ोसियों ने उसे निकालने की काफी कोशिश की।

आपको बता दें कि मुंगेर के  मुंर्गिया चक इलाके में मंगलवार शाम करीब तीन बजे सना बोरवेल में गिर गई गई थी। वह 45 फीट नीचे जाकर प्लास्टिक के पाइप से अटक गई। इसके बाद से ही स्थानीय लोग और प्रशासन की टीम उसे सुरक्षित निकालने में जुट गए। प्रशासन ने भागलपुर और खगडिया से एसडीआरफ, एनडीआरएफ और सेना को भी सहायता के लिए बुलाया।

पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान डॉक्टरों की टीम लगातार बच्ची की एक-एक हरकत पर नजर रखे हुई थी। उसे लगातार पाइप से अॉक्सीजन दिया जा रहा था। अंत में 30 घंटे तक मेहनत करने के बाद बुधवार की रात सना को सुरक्षित बाहर निकाला जा सका। बोरवेल से निकालने के बाद सना को एंबुलेंस से सदर अस्पताल लाया गया। रात भी सदर अस्पताल में ही सना का इलाज चला। सना को बचाने के लिए क्या हिन्दू, क्या मु्स्लिम, सबने मिलकर दुआएं की। सभी की दुआवों का ही असर है कि आज सना सही सलामत अपने परिवार के साथ है।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.