अभी-अभीः PK के JDU में शामिल होने से पहले बोले नीतीश कुमार- भविष्य हैं प्रशांत किशोर

खबरें बिहार की

पटना:  चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर अब राजनीति करते नजर आएंगे। प्रशांत किशोर आज पटना में जेडीयू की राज्य कार्यकारिणी की बैठक में नीतीश कुमार की मौजूदगी में जनता दल यूनाइटेड में विधिवत रूप से शामिल होंगे। उनके जदयू में शामिल होने से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि प्रशांत किशोर भविष्य हैं। प्रशांत किशोर ने रविवार को ट्वीट किया बिहार में अपने नए सफर की शुरूआत को लेकर काफी उत्साहित हूं। कहा जा रहा है कि जदयू में उन्हें कोई अहम जिम्मेेदारी मिल सकती है।

प्रशांत किशोर के जदयू में शामिल होने पर जदयू नेता संजय सिंह ने कहा कि अगर वह जदयू में आना चाहते हैं तो हम उनका स्वागत करते हैं। उनके पार्टी में आने से जदयू और मजबूत होगी। वहीं जदयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने कहा कि प्रशांत किशोर के जदयू में शामिल होने की अभी औपचारिक ऐलान नहीं किया गया है। अगर वह जदयू में शामिल होना चाहते हैं तो उनका स्वागत है।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद जेडीयू की राज्य कार्यकारिणी की बैठक में उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलवाएंगे। चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर भी आज पटना में जनता दल यूनाइटेड की कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होंगे और वहीं पर पार्टी का दामन थामेंगे। प्रशांत किशोर के जदयू में शामिल होने के बाद उनके लिए सबसे बड़ा चैलेंज आगामी लोकसभा चुनाव में एनडीए में सीट शेयरिंग को लेकर होगा। यह उनका मुख्य एजेंडा हो सकता है।

आपको बता दें कि प्रशांत किशोर 2014 में बीजेपी, 2015 में महागठबंधन और 2017 में उत्तर प्रदेश विधानसभा में कांग्रेस के लिये काम कर चुके हैं। एक समय चुनाव में जीत की गारंटी बन चुके प्रशांत किशोर उस समय चर्चा में आए थे जब 2014 के चुनाव प्रचार में बीजेपी के प्रचार को उन्होंने ‘मोदी लहर’ में बदल दिया था।

उसके बाद उनके बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मतभेद की खबरें आईं और उन्होंने साल 2015 में बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन (आरजेडी+जेडीयू+कांग्रेस) के प्रचार की कमान संभाल ली और इस चुनाव में बीजेपी को तगड़ी हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश चुनाव में कांग्रेस के प्रचार की कमान संभाल ली और पूरी पार्टी उन्हीं की बनाई रणनीति पर काम करने लगी। लेकिन कांग्रेस के नेताओं के साथ उनकी पटरी नहीं खा सकी और नतीजों में भी पार्टी बुरी तरह से हार गई।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.