जो शराब पीयेगा वो तो मरेगा ही, कोई नई बात नहीं है’ छपरा में 33 मौत के बाद बोले CM नीतीश कुमार

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार के छपरा जिले में जहरीली शराब (Chhapra Hooch Tragedy) से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। अबतक 33 लोगों के मरने की खबर सामने आई है। इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने अजीबोगरीब बयान देकर सबको चौंका दिया है। गुरुवार को विधानसभा के बाहर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि जो शराब पीयेगा, वो मरेगा ही। बिहार में जहरीली शराब से मौत कोई नई बात नहीं है। मुख्यमंत्री यहां नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा कि देशभर में लोग जहरीली शराब से मरते हैं। विपक्ष शराब के मुद्दे पर केवल राजनीति कर रहा है। जब बिहार में शराबबंदी नहीं थी, तब भी अन्य राज्यों में लोगों की मौत होती थी। लोगों को खुद सतर्क रहना चाहिए। चूंकि यहां शराबबंदी है तो कुछ न कुछ नकली बिकेगा, जिससे जान जाएगी। शराब खराब है और इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

शराबबंदी से कई लोगों को हुआ फायदा

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी से कई लोगों को फायदा हुआ है। बड़ी संख्या में लोगों ने शराब छोड़ दी है, यह अच्छी बात है। कई लोगों ने इसे सहर्ष स्वीकार किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो दोषी हैं उन्हें पकड़ा जाएगा। मैंने अधिकारियों से कहा है कि वास्तविक गड़बड़ी करने वालों की पहचान करें और उन्हें पकड़ें और गरीबों को न पकड़ें। शराब बनाने और शराब का धंधा करने वाले लोगों को पकड़ा जाए।

शराब का काम छोड़ने वाले को देंगे एक लाख रुपये

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली बार जब जहरीली शराब से लोगों की मौत हुई थी तो किसी ने कहा था कि उन्हें मुआवजा दिया जाना चाहिए। किस बात का मुआवजा? यदि कोई शराब पीता है, तो वह मरेगा ही। उदाहरण हमारे सामने है। इस पर शोक करना चाहिए, उन जगहों का दौरा करना चाहिए और लोगों को समझाना चाहिए।सीएम ने कहा कि हमारी सरकार लोगों को दूसरा काम शुरू करने के लिए 1 लाख रुपये देने को तैयार हैं। जरूरत पड़ी तो हम राशि जुटाएंगे, लेकिन कोई भी इस धंधे में शामिल नहीं होना चाहिए।

जहरीली शराब पर सदन में भड़के मुख्यमंत्री नीतीश

बता दें कि बुधवार को जहरीली शराब पीने से दर्जनों लोग के मरने पर विधानसभा में चर्चा और स्वजनों को मुआवजे की मांग कर रहे भाजपा विधायकों पर बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नाराज हो गए। नीतीश ने भाजपा के विधायकों को खूब कोसा। जहरीली शराब से मौत पर पीड़ित परिवार को मुआवजा देने का पोस्टर लिए विधायक की ओर हाथ दिखाकर कहा- ये क्या हो गया, तुम बोल रहे हो? कैसे जीते हो? जो शराब पीता है, उसके पक्ष में बोल रहे हो। शराबी हो गया तुम लोग। तुम लोग ही गड़बड़ करते हो। कितना गंदा काम कर रहे हो, अब तो बिल्कुल ही बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अच्छा किया तुम लोगों का साथ छोड़ दिया।

गिरिराज सिंह ने कहा- सीएम की संवेदना नहीं जगती

वहीं, शराब से हो रही मौतों पर नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह कहा कि ये बिहार का दुर्भाग्य है। बिहार में जब से शराब नीति चली है तब से कई हजार लोग मर गए। मगर मुख्यमंत्री की संवेदना नहीं जगती और जब सदन में कोई इसको उठाता है तो उससे ऐसा व्यवहार करते हैं जो कोई उम्मीद नहीं करता।

PM बनने की चाह में बिहार की बलि दे रहे नीतीश कुमार- RCP सिंह

पूर्व राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने छपरा में मौत को लेकर कहा कि देश का प्रधानमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा की वेदी पर नीतीश कुमार बिहार की बलि दे रहे है। उन्होंने कहा कि साल 2020 के बाद नीतीश कुमार केवल विपक्ष का समर्थन हासिल करने की ओर ध्यान दे रहे हैं, ताकि उन्हें सब मिलकर प्रधानमंत्री उम्मीदवार बना दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.