JLNMCH में रविवार को चादरों की ‘छुट्टी’, कड़कड़ाती ठंड में रेक्सीन के फटे बेड पर दांत कटकटा रहे मरीज

खबरें बिहार की जानकारी

पूर्व बिहार के सबसे बड़े जवाहर लाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल (JLNMCH) में रविवार को कर्मचारियों के साथ-साथ ‘चादरों’ की भी छुट्टी रहती है। पढ़कर थोड़ा अटपटा लग सकता है पर बात बिल्कुल सौ आने सच है। इस अव्यवस्था की वजह से इमरजेंसी से इंडोर तक में भर्ती दर्जनों मरीजों को कड़कड़ाती ठंड में फटे रेक्सीन के बेड पर दांत कटकटाते हुए रात बितानी पड़ी। इसमें कई महिलाएं और बुजुर्ग मरीज भी शामिल हैं। अस्पताल के भरोसे मरीजों को ठंड में काफी परेशानी हुई। जिनके घर से चादर और कंबल आए थे, उन्हें राहत थी।

इमरजेंसी में भर्ती एक मरीज के स्वजन ने बताया कि ठंड बढ़ने पर नर्स से चादर मांगने गया तो उन्होंने कहा कि रविवार को साफ चादरें नहीं मिलतीं। प्रत्येक विभाग से रविवार को छोड़कर हर दिन चादरें धुलने के लिए जाती हैं। यही नहीं, 80 से 100 चादरें धुलने के लिए दी जाती हैं। धुल कर आती हैं मात्र 40 से 50। उसमें भी संडे को फ्री डे होता है। इसलिए रविवार को मरीजों को साफ चादर देना संभव नहीं है।

रविवार को इमरजेंसी विभाग के बेड संख्या 12, 114, 27 और 28, इंडोर मेडिसीन विभाग के बेड संख्या 46, 95, 95 और 123 सहित अन्य बेडों पर मरीज बिना चादर बिछाए सोए हुए थे। स्वजन ने बताया कि जिन बेडों पर चादरें थी, वह एक दिन पहले की बिछाई हुई थी। रविवार को उसे बदला भी नहीं गया।

शहर ने ओढ़ ली कोहरे की चादर, सर्दी ने ढाया सितम

बढ़ती ठंड ने जनजीवन अस्तव्यस्त कर दिया है। शहर घने कोहरे की चादर से ढक रहा है। सर्दी ने सितम ढहाना शुरू कर दिया है। नए वर्ष पर रविवार को दोपहर तक घना कोहरा छाया रहा। सुबह देर तक ऐसी स्थिति थी कि कोहरा के कारण सामने पांच मीटर तक भी स्पष्ट दिखाई नहीं देता था। हालांकि, धीरे-धीरे कोहरा छंटने लगा और दोपहर में हल्की धूप निकली। धूप निकलने के बाद ठंड से थोड़ी राहत जरूर मिली। रविवार को हाड़ कपाऊ ठंड रही।

रविवार को आठ डिग्री पहुंचा न्यूनतम तापमान

बिहार कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग के अनुसार फिलवक्त ऐसा ही मौसम बना रहेगा। अधिकतम और न्यूनतम दोनों तापमान में गिरावट के आसार हैं। घना कोहरा होगा। देर से धूप निकलेगी। आसमान में बादल छाए रहेंगे। रविवार को अधिकतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। 100 प्रतिशत आर्द्रता के साथ चार किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से उत्तरी हवा चल रही है। पहाड़ी इलाके में लगातार बर्फबारी होने के कारण ठंड बढ़ रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.