जींस-टीशर्ट में ऑफिस आने को कहते हैं, चेंबर में बिठाकर करते हैं अश्लील बातें….सीएम नीतीश को महिला कर्मचारी ने भेजी चिट्ठी

खबरें बिहार की जानकारी

गया जिला पंचायत राज पदाधिकारी राजीव कुमार पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा है। यह आरोप उनके कार्यालय में काम करने वाली महिला कर्मचारी ने लगाया है। महिला कर्मचारी ने अपनी शिकायत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चिट्ठी भेजकर की है। शिकायत की कॉपी कई बड़े अधिकारियों के अलावे गया डीएम को भी भेजी गई है। आरोप है कि राजीव कुमार काम करने वाली लड़कियों को अपने चेंबर में बिठाए रखते हैं। अश्लील बातें करते हैं। बाथरूम तक नहीं जाने देते। जींस और टीशर्ट में ऑफिस आने को कहते हैं। चेंबर का शीशा काला कर रखा है। गलत तरीके से छूने की कोशिश करते है। साथ नहीं देने पर संविदा की नौकरी से हटाने की धमकी देते हैं।

डीएम ने बनायी जांच कमिटी

गंभीरता को देखते हुए डीएम डॉ. त्यागराजन ने अधिकारियों की टीम गठित की है। जिन्हें मामले की जांच का जिम्मा दिया गया है। डीएम ने निर्देश दिया है कि 48 घंटे में जांच कर रिपोर्ट दें। जिला प्रोग्राम पदाधिकारी, आईसीडीएस और श्रम अधीक्षक गया को जांच का जिम्मा दिया गया है। इस मसले में गया डीडीसी को जांच के पर्यवेक्षण को कहा गया है।

अधिकारियों ने चुप्पी साधी

इस मसले पर कोई अधिकारी किसी प्रकार की जानकारी देने से बच रहे हैं। सूत्र बताते हैं कि जिन नाम की महिला ने शिकायत की उस नाम से पंचायत राज कार्यालय में कोई महिला काम नहीं करती। कहा जा रहा है कि महिला ने दूसरे नाम से शिकायत की है। मामले की सच्चाई जांच रिपोर्ट आने के बाद ही आएगी।

यह पूरी मनगढ़ंत कहानी: राजीव

जिला पंचायत राज पदाधिकारी राजीव कुमार ने बताया कि यह आरोप पांच सौ फीसदी गलत और मनगढ़त है। मेरे कार्यालय में इस नाम की कोई महिला कार्यरत नहीं है। मेरे खिलाफ साजिश की जा रही है। लेखापाल और कार्यालय सहायकों के बीच पेंमेंट का विवाद है। मैने लेखापाल का पक्ष लिया था। इस मामले की जांच करायी जा रही है। सच्चाई सामने आ जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.