पटना: प्रदेश जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक पल भी भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचार के आरोपी को बर्दाश्त नही करते हैं। इसी का नतीजा है कि मेवालाल चौधरी को इस्तीफा देना पड़ा। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि यदि तेजस्वी यादव की नैतिकता इतनी झकझोर रही है तो वह इस्तीफा दें। मिसाल पेश करें। उनके ऊपर तो मनी लॉन्ड्रिंग से लेकर अवैध सम्पति, जमीन कब्जा, आय अधिक संपति, घोटाला, घपला सहित दर्जनों मामले दर्ज हैं। तेजस्वी यादव दूसरों का खुलासा छोड़, अपनी सम्पति का ब्यौरा दें। 

संजय सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार जीरो टॉलरेंस पर अडिग रहने वाले व्यक्ति हैं। मेवालाल चौधरी से इस्तीफा लेकर उन्होंने मिसाल कायम किया है। एनडीए के नेता अपनी नैतिकता के बल पर ही सत्ता में आते हैं, लेकिन अफसोस कि ये नैतिकता आरजेडी नेताओ के पास नहीं है। ख़ास तौर पर तेजस्वी यादव को नैतिकता से कोई लेना देना नहीं है। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि तेजस्वी यादव जान लें कि ज्यादा सीटें मिल जाने से अपराध कम नहीं हो जाते हैं। 

मेवालाल चौधरी के शपथ ग्रहण में अमित शाह के शामिल होने पर अब उठे सवाल
भाकपा राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार ‘अनजान’ ने कहा है कि मेवालाल चौधरी के भ्रष्टाचार की जानकारी सारे देश को थी। मेवालाल के शपथग्रहण समारोह में सबकुछ जानते हुए भी देश के गृह मंत्री अमित शाह शामिल हुए। उन्होंने कहा है कि केन्द्रीय गृह मंत्री की उपस्थिति में मेवालाल चौधरी ने शपथ ली और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में उस तथाकथित विजय और मंत्रिमंडल के  गठन को अपनी सहमत दी। भाजपा-जदयू गठबंधन बिहार में सबसे बड़ा गठबंधन है। उनके नेता को नैतिक जिम्मेदारी भी लेनी चाहिए और उसे बिहार और देश से माफी मांगनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here