जातिगत जनगणना ऐसा विषय नहीं है जिसके बिना बिहार डूब रहा है और धरती हिल रही है; सीएम नीतीश के मंत्री का बयान

जानकारी

बिहार में जातीय जनगणना को लेकर राजनीति जारी है। राज्य के कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप ने कहा कि जातिगत जनगणना ऐसा विषय नहीं है जिसके बिना बिहार डूब रहा है और धरती हिल रही है। बिहार के लिए जातिगत जनगणना बहुत आवश्यक नहीं है। गुरुवार को पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कृषि मंत्री ने यह बयान दिया।

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव के इशारे पर सरकार नहीं चलेगी। जातीय जनगणना कराने का राज्यों का अधिकार है। यदि जरूरत होगी तो सरकार जातीय जनगणना

कराएगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सभी दलों के साथ भाजपा से भी बात करेंगे। कृषि मंत्री ने कहा कि जातीय जनगणना की कठिनाइयों को भी समझना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.