जहरीली शराब से 73 की मौत, पोस्टमार्टम में भी खेल, अबतक सिर्फ 34 ही हुए, देखें सूची

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों का आंकड़ा रविवार को और बढ़ गया है। यहां अब तक 73 लोगों की मौत हो चुकी है। सारण जिले में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों के मामले में कई खुलासे भी हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि जहरीली शराब को बनाने के लिए थाने में जब्त हुई स्प्रिट का इस्तेमाल किए जाने की आशंका है। हालांकि अभी जांच जारी है। बता दें कि बुधवार को जहरीली शराब पीने से सबसे ज्यादा मसरख के 10 लोगों की मौत हुई थी। बीमार पड़ रहे लोगों ने आंखों की रोशनी कम होने की भी शिकायत की थी।

अब तक 34 शव का हुआ पोस्टमार्टम

जहरीली शराब कांड में प्रशासन द्वारा इसे छुपाने का किस प्रकार खेल खेला जा रहा है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अब तक 73 लोगों की मौत हो चुकी है लेकिन पोस्टमार्टम सिर्फ 34 लोगों का कराया गया है। इस पूरे प्रकरण को दबाने के लिए पुलिस प्रशासन लगातार प्रयास कर रहा है। यही कारण है कि ग्रामीण इलाकों में घूमकर पुलिस अधिकारी और चौकीदार स्थानीय लोगों को डरा धमका रहे हैं।

आरोप है कि स्थानीय लोगों से कहा जा रहा है कि शराब से मौत की जानकारी अगर हुई तो आप पर मुकदमा भी दर्ज होगा। इस डर से लोगों द्वारा शव का दाह संस्कार बिना पोस्टमार्टम कराए ही अपने स्तर से कर दिया जा रहा है। अब तक मात्र 34 लोगों के शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। शुक्रवार की शाम तक छह मृतकों का पोस्टमार्टम हुआ था, वहीं चार लोग बिना पोस्टमार्टम कराए शव को लेकर चले गए थे।

जहरीली शराब पीने से मरने वाले लोगों के स्वजनों का यह भी आरोप है कि प्रशासन द्वारा पोस्टमार्टम कराने को लेकर काफी लापरवाही बरती जा रही है। चार- छह घंटे पोस्टमार्टम के लिए इंतजार किया जा रहा है। इसके बाद भी कोई पूछने वाला नहीं है। उनकी मंशा यही रह रही है कि किसी तरीके से शव को लेकर वे लोग चले जाएं और पोस्टमार्टम की नौबत ही न आए।

मशरक थाना क्षेत्र के गोपालबारी गांव के रहने वाले मृतक मुकेश कुमार के स्वजनों का आरोप था कि वे लोग शव को लेकर छह घंटा से इंतजार करते रहे, लेकिन प्रशासन द्वारा टालमटोल किया जाता रहा। सिर्फ मुकेश कुमार के स्वजनों के साथ ऐसा नहीं हो रहा है, बल्कि अन्य लोग भी इससे परेशान हैं। यही कारण है कि कई लोग बिना पोस्टमार्टम कराए ही अपने स्वजनों का शव लेकर जा रहे हैं।

मशरक में होम डिलीवरी देने वाले महावीर रावत का मोबाइल नंबर बंद

मशरक के आसपास के इलाके में जहरीली शराब से लगातार हो रही मौत के बीच शराब की होम डिलीवरी करने वाले महावीर रावत काफी चर्चा में है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि शराब की खेप आने के बाद महावीर रावत मोबाइल से फोन कर लोगों को इसकी सूचना देते थे। घटना के बाद से उनका मोबाइल नंबर लगातार स्विच ऑफ बता रहा है।

जानकारी के मुताबिक, आरोप है कि मशरक थाना क्षेत्र के बिनटोली के रहने वाले महावीर रावत मोबाइल से शराब की होम डिलीवरी करते हैं। उन्होंने अपने मोबाइल नंबर को सभी शराब पीने वाले लोगों को दिया हुआ है। शराब की खेप आने के बाद लोगों को एक जगह एकत्रित कर शराब की सप्लाई की जाती है। जो लोग गंतव्य स्थान पर नहीं पहुंच पाते हैं उन्हें होम डिलीवरी भी दी जाती है। जहरीली शराब से हो रही मौत के बाद स्थानीय लोग चीख-चीखकर महावीर रावत का नाम ले रहे हैं। पुलिस भी उसकी तलाश कर रही है।

जो शराब पीयेगा वो तो मरेगा ही, कोई नई बात नहीं है : नीतीश कुमार

बिहार के छपरा जिले में जहरीली शराब (Chhapra Hooch Tragedy) से मरने वालों की संख्या 73 तक पहुंच गई है। इधर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने इस मामले में गुरुवार को जो बयान दिया, वह लोगों के गले नहीं उतरा। उन्होंने विधानसभा के बाहर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि जो शराब पीयेगा, वो मरेगा ही। बिहार में जहरीली शराब से मौत कोई नई बात नहीं है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने यह भी कहा कि देशभर में लोग जहरीली शराब से मरते हैं। विपक्ष शराब के मुद्दे पर केवल राजनीति कर रहा है। जब बिहार में शराबबंदी नहीं थी, तब भी अन्य राज्यों में लोगों की मौत होती थी। लोगों को खुद सतर्क रहना चाहिए। चूंकि यहां शराबबंदी है तो कुछ न कुछ नकली बिकेगा, जिससे जान जाएगी। शराब खराब है और इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

सारण संदिग्ध जहरीली शराब से मरने वाले मृतकों की सूची

क्रम संख्या -मृतक -पिता -पता

1-विजेन्द्र राय -नरसिंग राय-डोइला,इसुआपुर

2-हरेंद्र राम – गणेश राम -मशरख तख्त, मशरक

3-रामजी साह-गोपाल साह -मशरख

4-अमित रंजन – दीवेद्र सिन्हा – डोइला इसुआपुर

5-संजय सिंह पिता वकील सिंह – डोइला,इसुआपुर

6-कुणाल सिंह- यदु सिंह -यदु मोड़ मशरख

7- अजय गिरी- सूरज गिरी-बहरौली,मशरक

8-मुकेश शर्मा- बच्चा शर्मा-मशरक

9-भरत राम- मोहर राम-मशरक तख्त, मशरक

10-जयदेव सिंह- बिंदा सिंह-बेन छपरा, मशरक

11-मनोज राम- लालबाबू राम-दुरगौली, मशरक

12-मंगल राय,पिता गुलज़ार राय, मशरक

13-नासिर हुसैन-शमसुद्दीन-मशरक

14-रमेश राम-कन्हैया राम,मशरक

15-चन्द्रमा राम- हेमराज राम-मशरक

16-विक्की महतो-सुरेश महतो- लालापुर मढ़ौरा

17-गोविंद राय-घिनावन राय-पचखंडा,मशरक

18-ललन राम- करीमन राम-मशरक पश्चिम टोला

19-प्रेमचंद साह-बुन्नीलाल साह-रामपुर अटौली, इसुआपुर

20-दिनेश ठाकुर-असर्फी ठाकुर-महुली,मशरक

21-सीताराम-सिपाही राय-बहरौली, मशरक

22-विश्वकर्मा पटेल-श्रीनाथ पटेल,बस स्टैंड,मशरख

23-जयप्रकाश सिंह-शशिभूषण सिंह-गोपालवाड़ी मशरख

24-सुरेन साह- जतन साह-घोघिया,मशरक

25- जतन साह-कृपाल साह-घोघिया,मशरक

जतन साह के पुत्र है सुरेन साह (बाप -बेटा)

26-विक्रम राज- स्व नारायण प्रसाद-खरौनी,मढ़ौरा

27-दशरथ महतो- केसर महतो-डोइला, इसुआपुर

28-चंद्रशेखर शाह-भिखारी शाह-बहरौली मशरख

29-जगलाल शाह- भरत शाह -बहरौली मशरख

30-अनिल ठाकुर-परमा ठाकुर -बहरौली मशरख

31- एकराकुल हक़-मकुसाद अंसारी -बहरौली मशरख

32-शैलेन्द्र राय -दिन दयाल राय -बहरौली मशरख

33-उमेश राय-शिव पूजन राय-अमनौर

34-उपेंद्र राय-अक्षय राय-अमनौर

35- रंगीला महतो उर्फ सुरेंद्र महतो -यमुना महतो -लालापुर मढ़ोरा

36-दूधनाथ तिवारी-महावीर तिवारी- बहरौली मशरख

37-भरत शाह- गोपाल शाह -शास्त्री टोला मशरख

38-सालाऊदीन मिया- वकील मिया- अमनौर

39.सुरेंद सिंह -स्व.सच्चिदानंद सिंह -मणीसिरिया हुस्सेपुर अमनौर

40-जयनारायण राय- स्व जगन्नाथ राय -मणीसिरिया हुस्सेपुर अमनौर

41-हरेराम सिंह -राजेंद्र सिंह-घोघिया मशरक

42-मोहन प्रसाद यादव -रामजतन प्रसाद-घोघिया मशरक

43-कन्हैया सिंह- रामलाल सिंह -गोपालबाड़ी मशरक

44-विक्की महतो-लालबाबू महतो-चहपुरा इसुआपुर

45-रमेश महतो- यमुना महतो- लालापुर मढ़ौरा

46-मुकेश राम-चंद्रिका राम-मणीसरिसिया अमनौर

47-वीरेंद्र राम-स्व. रूपन राम -डुमरी छपिया तरैया

48-नथुनी राम -स्व.वृक्षा राम -डुमरी छपिया तरैया

49-बृजेश कुमार राय -नगीना राय -बहरौली मशरक

50-चमचम साह-मथुरा साह-बहरौली मशरक

51-कमलेश साह-मथुरा साह -बहरौली

52-प्रेम तिवारी -सीताराम तिवारी- शास्त्री टोला मशरक

53-सूरज साह-मथुरा साह-बहरौली

54-हरिकिशोर राय,- मुख्तार राय, श्याम कोरिया इसुआपुर

55– मुना आलम नजीर आलम -मशरक तख्त,मशरक

56-विनोद शर्मा -लालबाबू शर्मा-जगदेव सिरिसिया , अमनौर

57- योगी सिंह – बहरौली, मशरक

58-सिपाही राय -स्व जितन राय -मोगलहिया,मशरक

59- मनोज सिंह-स्व बाबूलाल सिंह -घोघिया,मशरक

60-मुकेश कुमार-श्यामसुंदर पंडित -गोपालबाड़ी मशरक

61-मिथिलेश राय-राजनाथ राय-सिसवा, इसुआपुर (मिथिलेश राय इसुआपुर सिसवा गांव के चौकीदार राजनाथ राय के पुत्र है।)

62-मुकेश सिंह -धर्मनाथ सिंह -गोपालबाड़ी

63-गौरी देवी -विश्वनाथ रावत-कतालपुर मशरक

64-विश्वनाथ रावत- स्व.सुकई राउत- कतालपुर

65-रामायण गिरी- कंचन गिरी -मरीचा बनियापुर

66-पिंटू राय चंद्र चंद्र चंदेव राय-पोझी डेरनी

67-प्रभु नारायण सिंह उर्फ मधु सिंह -स्व.साहेब सिंह चांदबरवा, मशरक

68-चंद्रिका साह- परशुराम साह- हरपुर, बनियापुर

69-अभय गिरि- राजदेव गिरि- सिसवां, इसुआपुर

70-बली सिंह- सूरन सिंह- चकहन, इसुआपुर

71-दामोदर राय- स्व. भगत राय- पोझी डेरनी

72-अखिलेश ठाकुर- हरिशंकर ठाकुर- बंगरा पश्चिमी टोला

73- बिनोद सिंह- स्व. मेवा सिंह- पूरब टोला  मशरक

Leave a Reply

Your email address will not be published.