आज देश 71वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। देश के कोने-कोने में तिरंगा फहराया जा रहा है। इस बीच देश प्रेम की एक और अद्भुत तस्वीर सामने आई है। यह तस्वीर लद्दाख की है, जहां भारत-तिब्बतन सीमा पुलिस (ITBP) के जवानों ने आज बर्फ में 17000 फीट की ऊंचाई पर राष्ट्रीय ध्वज फहराकर गणतंत्र दिवस मनाया। ​ITBP के जवानों का गणतंत्र दिवस पर तिरंगा फहराना इसलिए खास हो जाता है क्योंकि जहां उन्होंने तिंरंगा फहराया वहां तापमान शून्य से 20 डिग्री सेल्सियस कम है। ‘हिमवीरों’ ने तिरंगा फहराकर ‘भारत माता की जय’ और ‘वंदे मातरम’ के नारे लगाए।

ITBP की स्थापना

बता दें कि भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल की स्थापना 24 अक्टूबर 1962 को हुई थी। वर्तमान में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल को लद्दाख में काराकोरम दर्रे से अरुणाचल प्रदेश में जाचेप ला तक सीमा सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है। यह क्षेत्र चीन सीमा और मैनिंग सीमा को 3488 किलोमीटर से कवर करता है। भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल भारत-चीन सीमा के पश्चिमी मध्य में 9000 फीट और पूर्वी क्षेत्र में 18700 फीट ऊंचाई तक तैनात है।

क्यों किया गया ITBP का गठन?

भारत-तिब्बत सीमा पर खुफिया और सुरक्षा के मद्देनजर भारत-तिब्बतन सीमा पुलिस का गठन किया गया था। शुरुआत में इसकी सिर्फ चार बटालियन को मंजूरी दी गई थी। आईटीबीपी को शुरू में सीआरपीएफ अधिनियम के तहत खड़ा किया था। हालांकि, 1992 में संसद ने ITBPF अधिनियम लागू किया और 1994 में इसके नियम बनाए गए। ITBP पर सीमा की रखवाली, जवाबी कार्रवाई, आंतरिक सुरक्षा के अलावा कई अतिरिक्त कार्य की जिम्मेदारी भी सौंपी जाती है। 

चार से 56 सेवा बटालियनों तक…

शुरुआत में सिर्फ चार बटालियन होने के बाद धीरे-धीरे ITBP बटालियनों की संख्या बढ़ती गई। वर्तमान में  ITBP की 56 सेवा बटालियन, 4 विशेषज्ञ बटालियन, 17 प्रशिक्षण केंद्र और 07 रसद प्रतिष्ठान हैं। ITBP में लगभग 90,000 कर्मी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here