केवल लालू ही नहीं बिहार के कई और नेता भी हैं IT के रडार पर

राजनीति

बिहार और झारखंड में बेनामी संपत्ति पर जोरदार कानूनी प्रहार करने की तैयारी है। इस कड़ी में आने वाले दिनों में 42 करोड़ से अधिक की बेनामी संपत्ति जब्त हो सकती है।

 

पिछले वर्ष 8 नवम्बर को नोटबंदी के बाद चलाए गए आयकर के विशेष अभियान में दो महीने (नवंबर-दिसंबर 2016) में 42.4 करोड़ की बेनामी संपत्ति का पता चला था। इसमें कीमती जमीन से लेकर आलीशान मकान लग्जरी गाड़ी तक शामिल है।
इन परिस्थितियों के बीच आने वाले दिनों में बेनामी संपत्ति को सील या जब्त करने के साथ ही अन्य कानूनी विकल्प आजमाए जाएंगे। बेनामी संपत्ति की जांच का सिलसिला जारी है।
इस क्रम में कुछ नए बेनामी संपत्ति के बारे में भी सुराग मिले हैं। विशेषकर जिलों के रजिस्ट्री ऑफिस से पिछले एक दशक में हुए कीमती जमीनों की खरीद-बिक्री के अलावा अन्य स्रोतों से भी बेनामी संपत्ति से जुड़ी जानकारी जुटाई जा रही है।
आधा दर्जन नेता रडार पर…

Leave a Reply

Your email address will not be published.