इस व्रत में पूरे दिन रहते हैं निर्जला, अगले दिन करते हैं व्रत का पारण

आस्था खबरें बिहार की जानकारी

महिलाएं पति की लंबी उम्र की कामना के लिए 30 अगस्त को निर्जला तीज व्रत रखेंगी। यह व्रत गणेश चतुर्थी से पहले आता है। इस दौरान महिलाएं 24 घंटे का निर्जला उपवास पर करेंगी और भगवान शिव मां पार्वती की पूजा-अर्चना करेंगी। इसके बाद अगले दिन व्रत का पारण किया जाएगा। जिन महिलाओं की शादी के बाद की पहली तीज है उनको सुहाग की सामग्री जैसे-सिंदूर, मेहंदी, चूड़ी, काजल, लाल चुनरी मां पार्वती को अर्पित करनी चाहिए। इस दिन माता पार्वती को लाल फूल, सुहाग की सामग्री और मां पार्वती का अभिषेक कराना चाहिए।

इससे सुहागिनों को अखण्ड सौभाग्यवती का वरदान मिलता है और परिवार में सुख समृद्धि भी आती है। वही अगले दिन सुबह महिलाएं मूर्ति विसर्जन कर निर्जला व्रत का पारण करेंगी।  इस दिन भाद्रपद शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को हरतालिका का व्रत किया जाता है। यह व्रत पति की लंबी आयु और सौभाग्य प्राप्ति के लिए किया जाता है। इस व्रत में सबसे खास बात है कि इस दिन महिलाएं शाम को कथा सुनने के बाद फल आदि खाती हैं, पूरे दिन बिना अन्न-जल के रहती हैं और अगले दिन सुबह व्रत पारण करती हैं।

हरतालिका तीज शुभ मुहूर्त 2022-

29 अगस्त को दोपहर 03 बजकर 20 मिनट से प्रारंभ होगी।
30 अगस्त को दोपहर 03 बजकर 33 मिनट तक
हरतालिका तीज सुबह 06 बजकर 05 मिनट से लेकर सुबह 08 बजकर 38 मिनट
शाम 06 बजकर 33 मिनट से लेकर रात 08 बजकर 51 मिनट तक

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.