हर साल भारतीय क्रिकेट बोर्ड इंडियन प्रीमियर लीग के सिर्फ उद्घाटन पर ही करीब 30 करोड़ रुपये खर्च कर देता है. 2008 में जब से फ्रेंचाइजी आधारित आईपीएल (IPL) ने भारतीय क्रिकेट में कदम रखा है, तभी से हर साल इस लीग का उद्घाटन धूम धड़ाके से हो रहा है, जिसमें दुनिया भर के एंटरटेनमेंट जगत के स्‍टार मंच पर उतरते हैं. हालां‌कि अब बीसीसीआई (BCCI) का मानना है कि आईपीएल (IPL) की ओपनिंग सेरेमनी पैसों की बर्बादी है और बोर्ड ने आईपीएल से इसे हटाने का फैसला ले लिया है.

इंडियस एक्सप्रेस की खबर के अनुसार आईपीएल गवर्निंग काउंसिल मीटिंग में इस मुद्दे पर काफी चर्चा हुई. जिसके बाद यह फैसला लिया गया. बीसीसीआई (BCCI) के एक अधिकारी ने कहा कि ओपनिंग सेरेमनी पैसों की बर्बादी है. इसमें क्रिकेट फैंस की कोई रुचि भी नहीं दिखती और मंच को स्टार से सजाने के लिए कलाकारो को भारी भरकम कीमत भी देनी पड़ती है. बोर्ड का मानना है कि बॉलीवुड अंदाज का उद्घाटन समारोह काफी खर्चीला होता है.

इंटरनेशनल पॉप स्टार्स उतरते हैं मंच पर
पिछले कुछ वर्षो से केटी पैरी, अकॉन और पिट बुल जैसे इंटरनेशनल पॉप स्टार्स ने फायरवर्क और लेजर शो के बीच आईपीएल ओपनिंग सेरेमनी में परफॉर्म कर रहे हैं. आईपीएल (IPL) का यह समारोह बॉलीवुड स्टार्स से भी सजा रहता था. हालांकि 2019 के सीजन में आईपीएल की ओपनिंग सेरेमनी का आयोजन नहीं किया गया था. दरअसल उस समय पुलवामा में सीआरपीएफ (CRPF) जवानों पर हुए आतंकवादी हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए यह फैसला लिया गया था. ओपनिंग सेरेमनी के नाम पर मिलने वाला 20 करोड़ का बजट सीआरपीएफ, भारतीय आर्मी, नेवी और एयर फोर्स को दान किया गया था.

मीटिंग में इन पर भी हुई चर्चा
मीटिंग में आईपीएल 2020 (IPL 2020) की नीलामी की तारीख भी तय की गई. खिलाड़ियों पर बोली 19 दिसंबर को कोलकाता में लगाई जाएगी. यहीं नहीं मीटिंग में आईपीएल (IPL) को और अधिक रोचक बनाने के लिए कई नए नियमों पर भी चर्चा हुई. जहां पावर प्लेयर को लेकर चर्चा हुई ताे वहीं ‌पिछले सीजन में खराब अंपायरिंग को सुधारने के लिए इस सीजन में अतिरिक्त अंपायर पर फैसला लिया गया, जो विशेष रूप से नो बॉल का ध्यान रखेंगे. पिछले सीजन में नो बॉल पर अंपायर्स के गलत फैसलों ने आईपीएल (IPL) पर भी सवाल खड़े कर दिए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here