अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव में बिहारी बच्चों ने दिखाई प्रतिभा, प्रदर्शनी देख सबने की तारीफ

खबरें बिहार की

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आयोजित चार दिवसीय भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव सोमवार को संपन्न हो गया. इस महोत्सव में सैनिक स्कूल नालंदा के कैडेटों ने अपने वैज्ञानिक कौशल से केवल नालंदा ही नही बिहार का नाम रौशन कर परचम लहराया है. यहां के कैडेटो ने फॉल्डोस्कोप बनाकर कई नये-नये प्रयोगों का प्रदर्शन किया.

इन प्रयोगों से ग्रामीण परिप्रेक्ष्य में विभिन्न वैज्ञानिक उपकरणों से वंचित छात्र – छात्राओं के लिए वैज्ञानिक प्रयोग संपादन हेतु नई दिशा प्रदान की गई है. विभिन्न वैज्ञानिक प्रयोगों को आसान तरीकों से संपादित व प्रदर्शित कर सैनिक स्कूल नालंदा के कैडेटों ने विद्यालयीय पठन-पाठन में प्रयोग आधारित पाठ्यक्रम की उपयोगिता को सिद्ध किया.

महोत्सव में प्रतिभागी इन कैडेटों ने राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान केंद्र लखनऊ में रोपित एवं प्रदर्शित वनस्पतियों, उनके उत्पाद को संकलित करने की विधि का भी प्रशिक्षण प्राप्त किया. इस महोत्सव में प्रख्यात विज्ञान कार्टूनिस्ट डॉ प्रदीप श्रीवास्तव द्वारा कैडेटों को विभिन्न वैज्ञानिक कार्टून बनाने का प्रशिक्षण प्रदान किया.

कैडेटों ने बीरबल साहनी पुरा विज्ञान संस्थान के विभिन्न पूरा वनस्पतियों का भी अध्ययन किया. बतौर विद्यार्थी विज्ञान मंथन के अध्येता के रूप में महोत्सव में कैडेटों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया. दिसंबर महीने में आयोजित होने वाले सम्मान समारोह में भी इन कैडेटों को सम्मानित करने की घोषणा की गई. कैडेटों ने विभिन्न वैज्ञानिक विषयों पर आधारित विज्ञान चलचित्र के माध्यम से विभिन्न जानकारियां प्राप्त की.

लखनऊ में आयोजित इस भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव में सैनिक स्कूल नालंदा के नवमी और दशमी कक्षा के नौ कैडेट किसलय किशोर, विष्णु उपाध्याय, अमन कुमार, चंद्रशेखर कुमार, आशीष कुमार, प्रिंस कुमार, अंकित कुमार, विवेक कुमार और कृष्णा कुमार ने भाग लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *