इंटर परीक्षा आज से, जूता-मोजा पहनकर बैठने की अनुमति, सीसीटीवी और वीडियोग्राफी से होगी निगरानी

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार बोर्ड की इंटर परीक्षाएं सोमवार से शुरू हो रही है। कोरोना काल में लगातार दूसरे साल बोर्ड परीक्षा लेने वाला देश का पहला बोर्ड है। कदाचार मुक्त परीक्षा के लिए केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे और वीडियोग्राफी से निगरानी रखी जाएगी। सभी परीक्षा केंद्रों पर पुलिस बल की तैनाती होगी।

10 मिनट पहले केंद्र पर पहुंचना अनिवार्य

प्रत्येक पांच सौ परीक्षार्थी पर एक वीडियोग्राफर रहेगा। 10 मिनट पहले तक परीक्षार्थियों को केंद्र में प्रवेश दिया जाएगा। राज्य भर में 1471 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, जहां पर 13,45,939 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। इनमें 6,48,518 छात्राएं और 6,97,421 छात्र शामिल होंगे। परीक्षा केंद्र पर 25 परीक्षार्थी पर एक वीक्षक रहेंगे। पहले दिन की परीक्षा में 11 लाख 41 हजार 943 परीक्षार्थी शामिल होंगे। पहली पाली में चार लाख 52 हजार 810 व दूसरी पाली में 6 लाख 88 हजार 833 विद्यार्थी परीक्षा देंगे।

 

बिहार बोर्ड ने वाट्सएप ग्रुप भी बनाया है। इसमें डीईओ के माध्यम से सभी डीएम द्वारा बोर्ड परीक्षा पर नजर रखी जायेगी। छात्राओं के लिए हर जिले में चार-चार मॉडल परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं। परीक्षा के पहले दिन कला, विज्ञान और वोकेशनल कोर्स की परीक्षा ली जायेगी। मंगलवार को प्रथम पाली में विज्ञान संकाय की गणित विषय की परीक्षा होगी। वहीं दूसरी पाली में कला संकाय का हिन्दी और वोकेशनल कोर्स का हिन्दी विषय की परीक्षा ली जायेगी।

जूता-मोजा पहनकर दे सकेंगे परीक्षा

राज्य में कड़ाके की ठंड को देखते हुए बिहार बोर्ड ने परीक्षार्थियों को जूता-मोजा पहन कर परीक्षा देने की अनुमति दी है। बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि सभी परीक्षार्थी जूता-मोजा पहन कर परीक्षा केंद्र पर जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि छात्र हित में वस्तुनिष्ठ और विषयानिष्ठ दोनों में ही सौ फीसदी अतिरिक्त प्रश्नों का विकल्प दिया गया है। केंद्र पर विद्यार्थियों की गहन तलाशी तीन बार ली जायेगी।

 

परीक्षार्थी रखें इन बातों का ध्यान:

– केंद्र पर प्रवेश पत्र, नीले या काले रंग के पेन के साथ जाएं।

– मास्क या फेसकवर जरूर लगाएं।

– प्रवेश पत्र में फोटो की त्रुटि हो तो आधार कार्ड, वोटर कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और फोटोयुक्त बैंक पासबुक रखें।

– केंद्र पर मोबाइल फोन, ब्लूट्रूथ, ईयरफोन या अन्य इलेक्ट्रानिक गैजेट्स आदि का प्रयोग वर्जित है।

– दिव्यांग छात्रों को प्रति घंटा 20 मिनट अधिक मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.